ज्योतिष

आज की रात 800 साल बाद, बृहस्पति और शनि ग्रह आपस में आयेंगे बेहद करीब

इस मामले में के जानकारों की मानें तो बृहस्पति और शनि ग्रह के निकट आने की ऐसी दुर्लभ घटना हो रही है.

नईदिल्ली 21 दिसंबर 2020: अंतरिक्ष में आज एक ऐसा नजारा दिखने वाला है जो इससे पहले 800 साल पहले दिखा था. अंग्रेजी कैलेंडर की मानें तो 21 दिसंबर यानी आज की रात साल की सबसे लंबी होने वाली है. ऐसे में कई खगोलीय वैज्ञानिक इस पर नजर गड़ाये हुए है. इस मामले में के जानकारों की मानें तो बृहस्पति और शनि ग्रह के निकट आने की ऐसी दुर्लभ घटना हो रही है.

दरअसल, इससे पहले शनि और बृहस्पति ग्रह का ऐसा महासंयोजन करीब 800 वर्ष पहले देखने को मिला था. विशेषज्ञों की मानें तो धरती से देखने पर दोनों ग्रह आमने-सामने तो जरूर दिखेंगे लेकिन, अंतरिक्ष में इनकी दूरी करोड़ो किलोमिटर दूर होगी.

आपको बता दें कि बृहस्पति-शनि का एक दूसरे के सामने आने वाला संयोग प्रत्येक 20 वर्ष में होताा है. अंतिम बार यह वर्ष 2000 में देखने को मिला था. लेकिन यह महासंयोजन इस वर्ष से पहले सन 1623 और उससे पहले 1224 में देखने को मिला था.

खगोलीय वैज्ञानिकों की मानें तो ऐसे संयोग को महासंयोजन अर्थात ग्रेट कंजक्शन कहा जाता है. विशेषज्ञों की मानें तो आज शाम सूर्यास्त के बाद दोनों ग्रहों का एक दूसरे से मिलन होते देखा जा सकता है.

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा की मानें तो सौरमंडल के दोनों ग्रह एक डिग्री के दसवें हिस्से के अर्थात 0.1 डिग्री में जब स्थिति होंगे तब यह घटना देखने को मिलेगी.

एमपी बिड़ला तारामंडल के निदेशक देबी प्रसाद दुआरी ने जो चौंकाने वाला खुलासा किया है वह यह है कि धरती से दोनों ग्रह आपस में तो सटे दिखेंगे लेकिन आकाशगंगा में उनकी दूरी 73.5 करोड़ किलोमीटर से भी ज्यादा हो सकती है. लेकिन, हर दिन ये एक दूसरे के करीब आते जाएंगे.

क्या खास है आज की रात में

सूर्यास्त के बाद धरती से दिखेगा अंतरिक्ष का अद्भूत नजारा
आज की रात होगी सबसे लंबी
बृहस्पति और शनि ग्रह आयेंगे एक दूसरे के नजदीक
2020 से 800 वर्ष पहले हुई थी ऐसी खगोलीय घटना
धरती से दिखेंगे सामना लेकि अंतरिक्ष में दोनों ग्रहों की दूरी होगी 73.5 करोड़ किलोमीटर

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button