राष्ट्रीय

‘ऑपरेशन ऑलआउट’ में नए टारगेट, सेना की हिट लिस्ट में अब ये पांच आतंकी

कश्मीर में ‘ऑपरेशन आलआउट’ चला रही भारतीय सेना ने मोस्ट वांटेड आतंकियों की एक और लिस्ट जारी की है. इस लिस्ट में टॉप 5 आतंकियों का नाम शामिल है.

इसमें अल कायदा का आतंकी जाकिर मूसा, हिजबुल मुजाहिद्दीन का रियाज नाइकू, सद्दाम पाडर, लश्कर आतंकी जीनत उल इस्लाम और जैश आतंकी खालिद का नाम शामिल है.

जाकिर मूसा, (अल कायदा)

सेना की हिट लिस्ट में जाकिर मूसा टॉप पर है. जाकिर कुछ दिन पहले ही हिजबुल मुजाहिद्दीन को छोड़कर अल कायदा में शामिल हो गया है. कुछ ही समय में जाकिर घाटी के युवाओं ही नहीं बल्कि अन्य आतंकी संगठनों में काफी चर्चित हो गया है.

कश्मीर में लश्कर का ऑपरेशन चलाने वाले आतंकी अबू दुजाना ने भी जाकिर की हथियारों से लेकर जमीनी स्तर पर हर तरह की मदद की थी. अब जाकिर भारतीय सेना की हिट लिस्ट में शामिल हो गया है.

रियाज नाइकू, (हिजबुल मुजाहिद्दीन)

हिजबुल का चीफ रियाज ‘A++’ कैटेगरी का आतंकी है. पिछले माह एक मुठभेड़ में यासीन इट्टू की मौत के बाद हिजबुल ने 29 साल के रियाज का कश्मीर में दहशतगर्दी की जिम्मेदारी सौंपी है.

अवंतीपोरा का रहने वाला रियाज टेक्नोलॉजी में माहिर है. रियाज पर एक पुलिसकर्मी की हत्या समेत कई मुकदमे दर्ज हैं.

सद्दाम पाडर, (हिजबुल मुजाहिद्दीन)

बीते साल बुरहान वानी के साथ 12 आतंकियों की एक ग्रुप फोटो वायरल हुई थी. उस तस्वीर में मौजूद 10 आतंकियों को सेना ने उनके अंजाम तक पहुंचा दिया है.

एक आतंकी तारिक पंडित ने सरेंडर कर दिया था. अब एक मात्र सक्रिय आतंकी सद्दाम पाडर बचा है. उसे भी सेना सरगर्मी से तलाश रही है.

सद्दाम बीते 4-5 साल से घाटी में सक्रिय है. पहले वह लश्कर से जुड़ा था. 2015 में वह हिजबुल मुजाहिद्दीन में शामिल हो गया. जाकिर मूसा के बाद कुछ समय के लिए सद्दाम हिजबुल का टॉप कमांडर था.

जीनत उल इस्लाम (लश्कर)

28 साल का जीनत लश्कर में 2015 में भर्ती हुआ था. इस साल फरवरी में शोपियां में उसने सुरक्षाकर्मियों पर हमला किया था, जिसमें तीन जवान शहीद हो गए थे. शोपियां के जानीपुरा इलाके का रहने वाला जीनत आईईडी एक्सपर्ट है.

इससे पहले वह अल-बदर से जुड़ा हुआ था. 2008 में उसे गिरफ्तार किया गया था. उस समय वह आतंकियों के लिए ओवर ग्राउंड वर्कर के तौर पर काम करता था. चार साल की सजा काटने के बाद वह लश्कर में शामिल हो गया.

खालिद (जैश-ए-मोहम्मद)

जैश कमांडर खालिद पाकिस्तान में ट्रेनिंग लेने के बाद उत्तरी कश्मीर में सक्रिय है. कुछ महीने पहले साउथ कश्मीर के पुलवामा जिले में मौजूद पुलिस लाइन में हुए सुसाइड अटैक में इस आतंकी का नाम सामने आया था.

इस हमले में सीआरपीएफ के चार और जम्मू-कश्मीर पुलिस के चार जवान शहीद हो गए थे. खालिद के बारे में ज्यादा जानकारी सेना के पास भी नहीं है. उसे कोडनेम खालिद के नाम से ही जाना जाता है.

बीते साल अक्टूबर में पहली बार उसका नाम सामने आया था. पिछले साल अगस्त में बारामुला में सेना की कानवाई पर हमले में भी यह आतंकी शामिल था. इस हमले में तीन सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे.

कश्मीर में चल रहा ‘ऑपरेशन ऑल आउट’

घाटी से आतंक का खात्मा करने के लिए इससे पहले सेना ‘ऑपरेशन ऑल आउट’ तैयार किया है. इसमें सुरक्षाबलों ने कश्मीर में मौजूद 258 आतंकियों की लिस्ट तैयार की थी. इसमें से कई आतंकी मुठभेड़ में मारे जा चुके हैं.

इस लिस्ट में लश्कर, हिजबुल मुजाहिदीन और अल बद्र जैसे संगठनों से जुड़े आतंकी हैं. खुफिया एजेंसियों ने मिलकर इन आतंकियों की सूची तैयार की थी. इस लिस्ट में जम्मू-कश्मीर के 13 जिलों के आतंकी शामिल थे. इनमें 130 लोकल आतंकी और 128 विदेशी हैं. लिस्ट में सबसे ज्यादा आतंकी कुपवाड़ा और सोपोर से हैं.

Summary
Review Date
Reviewed Item
ऑपरेशन ऑलआउट
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *