टॉप नक्सली नेता टेबल पर आएं तो करेंगे बात : रमन सिंह

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने एक निजी समाचार एजेंसी से बातचीत में कहा है कि वे नक्सलियों से बातचीत को तैयार हैं बशर्ते टॉप नक्सली नेता टेबल पर आएं। जिला स्तर के नक्सलियों से बात करने का कोई मतलब नहीं है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नक्सलवाद से लड़ाई दुनिया की सबसे कठिन लड़ाई है। छत्तीसगढ़ के सुकमा और बीजापुर के 15 से 20 फीसद हिस्से में ही उनका प्रभाव है। दिक्कत यह है कि वे ग्रामीणों, महिलाओं और बच्चों की आड़ में रहते हैं। कोई लुंगी पहनकर घूम रहा हो और अचानक फायरिंग शुरू कर दे तो सुरक्षाबल क्या कर सकते हैं। हम अपनी ही जनता को मार तो नहीं सकते।

सीएम के अनुसार सीमा पर दुश्मन से लड़ना आसान है। वहां दुश्मन की पहचान होती है। हम गोला बारूद इस्तेमाल कर सकते हैं। यहां नक्सली निरीह ग्रामीणों के बीच छुपे हैं। नक्सलियों से मुख्यधारा में शामिल होने की अपील करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बातचीत में कोई समस्या नहीं है। पोलित ब्यूरो के पांच-सात लोग बातचीत की टेबल पर आएं तो हम समाधान निकाल सकते हैं।

Back to top button