भारत पाक के बीच ट्रेड वार जारी, सूरत के कपड़ा व्य़ापारियों का पाक को झटका

सूरत के इन व्यापारियों ने यह फैसला पुलवामा हमले के विरोध में लिया है।

नई दिल्लीः देश के सबसे बड़े मानव-निर्मित कपड़े के बाजार के निर्यातकों ने पाकिस्तान में कपड़े का निर्यात न करने का फैसला लिया है। सूरत के इन व्यापारियों ने यह फैसला पुलवामा हमले के विरोध में लिया है।

इससे पाकिस्तान के 2 बड़े कपड़ा बाजारों की हालत खराब हो जाएगी। सूरत की कंपनियों के साथ डील करने वाली विदेशी कंपनियों ने भी भारत का पक्ष लेते हुए पाकिस्तान में भारतीय माल सप्लाई करना बंद कर दिया है।

सप्लाई ना होने की वजह से लाहौर का पाकिस्तान-आजम कपड़ा बाजार और कराची का लखनऊ बाजार पूरी तरह सूरत से आने वाले आयात पर निर्भर करता है।

सूरत की साडिय़ों, पोलिस्टर फैब्रिक, लहंगे और दुपट्टों का पाकिस्तान में बहुत बड़ा बाजार है। लाहौर और कराची के इन बाजारों में कई दुकानों ने तो बोर्ड लगा रखा है कि उनके यहां सूरत से माल आता है। इसी के दम पर ग्राहक उनके पास कपड़े खरीदने आते हैं।

आपको बता दें कि पाकिस्तान में बड़ी संख्या में दुकानदार हमसे सस्ती साडिय़ां, लहंगे और अन्य फैब्रिक खरीदते हैं और उसे ऊंचे दामों पर बेचते हैं। अगर हमने उन्हें कच्चा माल भेजना बंद कर दिया तो छोटे व्यापारी तो तबाह हो जाएंगे।’’

Back to top button