छत्तीसगढ़राज्य

राजधानी ट्रैफिक पुलिस को मिले दो अमेरिकी हाईटेक ‘राडार’ तेज गति के वाहनों को पकड़ेगा, गाड़ी का नंबर भी बताएगा

रायपुर. राजधानी रायपुर के ट्रैफिक को सुधारने के लिए अब राडार की मदद ली जाएगी. हाईटेक राडार तेज गति के वाहनों के बारे में बड़ी आसानी से सूचना देगा. यह गाड़ी के नम्बर के साथ ही वाहन मालिक का नाम भी बताएगा. अमेरिकी तकनीक से निर्मित इस राडार का जल्द इस्तेमाल प्रारंभ होगा.

पुलिस को दो स्पीड राडार है। इसमें बेहद हाईटेक कैमरा और लेजर सिस्टम लगा हुआ है। इसी की मदद से राडार करीब एक किलोमीटर के दायरे में हाई स्पीड वाहनों का पता लगाता है। इसमें वीडियो रिकॉर्डिंग सुविधा के साथ फाेटो भी खींचने का विकल्प है। जीपीएस भी लगा हुआ है, जो गाड़ियों का लोकेशन भी बताता है। मशीन से ऑटोमेटिक प्रिंट निकलता है।

इसमें गाड़ी की रफ्तार, लोकेशन, नंबर, मालिक का नाम, तारीख और समय तक लिखा होता है। पुलिस मुख्यालय से दो मशीनें मिलने के बाद इसे इंटरसेप्टर व्हीलर में लगाकर ट्रायल शुरू कर दिया गया है। दस दिन पहले ट्रैफिक जवानों को मशीन चलाने की ट्रेनिंग भी दे दी गई है। अफसरों का कहना है कि अगले हफ्ते से पुलिस हाई स्पीड राडार से तेज रफ्तार वाहन चलाने वालों पर कार्रवाई शुरू करेगी।

शहर की सड़कों पर अंधाधुंध स्पीड से बाइक चलाकर लोगों को परेशान करने वालों को अमेरिकी राडार 1 किलोमीटर के दायरे में ढूंढ लेगा। राडार की मदद से पुलिस को ये भी पता चल जाएगा कि वाहन किस रोड पर कितनी स्पीड से आ रहा है। पुलिस उसी समय घेरेबंदी कर बाइकर्स को उसी समय पकड़ लेगी। राडार की स्क्रीन में गाड़ी का नंबर और वाहन मालिक का नाम भी डिस्प्ले होगा। वाहन चालक अगर बचकर निकल भी गए तो पुलिस घर तक पहुंच जाएगी। अमेरिकी स्पीड राडार शहर में तेज रफ्तार वाहन चलाकर लोगों का जीवन खतरे में डालने वालों काे पकड़ने में मददगार होगा।

Tags
Back to top button