दुखद है गोवंश की मौत: सुन्दरानी

पूर्व विधायक श्रीचंद सुन्दरानी ने भूख से हुई चार गायों की मौत के लिए प्रदेश सरकार की गौठान योजना की विफलता को दोषी ठहराया

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एवं पूर्व विधायक श्रीचंद सुन्दरानी ने भूख से हुई चार गायों की मौत के लिए प्रदेश सरकार की गौठान योजना की विफलता को दोषी ठहराया है। सुन्दरानी ने कहा कि गौठान योजना का ढिंढोरा पीटती प्रदेश सरकार मवेशियों के लिए चारा-पानी और सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम तक नहीं कर पा रही है जिसके कारण गौवंश अकारण मौत के मुंह में जा रहा है।

भाजपा प्रवक्ता सुन्दरानी ने कहा कि राजधानी से सटे ग्राम भरेंगाभाठा में निर्माणाधीन एनआईटी आवासीय परिसर में लगभग 300 गायों को गत जुलाई माह से बंधक बनाकर रखा जाना अमानवीयता की पराकाष्ठा है। इन बंधक गायों के चारे-पानी का पर्याप्त इंतजाम तक नहीं किया गया था, जिसके कारण चार गायों की भूख से मौत हो गई और तीन गायों की दशा बेहद गंभीर है।

गौठान योजना की ढिंढोरची प्रदेश सरकार और उसके कारिन्दों पर सवाल दागते हुए सुन्दरानी ने पूछा कि आखिर किसके कहने पर किसने इन गायों को कैद किया था? और, बंधक गायों के चारे-पानी का इंतजाम क्यों नहीं हुआ था? लगभग साढ़े चार माह से बंधक बनाकर रखी गई इन गायों की सुध लेने की जरूरत क्यों महसूस नहीं की गई? सुन्दरानी ने इस मामले को बेहद संवेदनशील बताते हुए इसे प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली की घोर विफलता का परिचायक बताया है और इस मामले की सूक्ष्म जांच कर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है।

Tags
Back to top button