छत्तीसगढ़

कृषि विकास केन्द्र दस-दस गांव गोद लेकर किसानों और युवाओं को प्रशिक्षण दें : मुख्यमंत्री

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि कृषि विज्ञान केन्द्रों से अधिक से अधिक किसानों और युवाओं को जोड़कर कृषि और इससे जुड़ी गतिविधियों में प्रशिक्षण दिया जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक कृषि विज्ञान केन्द्र आस-पास के दस-दस गांवों को गोद ले और वहां किसानों और युवाओं को कृषि, उद्यानिकी, फिशरीज आदि के बारे में प्रशिक्षित करें, इससे कृषि तकनीकों को गांवों तक पहुंचाने में मदद मिलेगी।

डॉ. सिंह आज यहां अपने निवास कार्यालय में राज्य योजना आयोग द्वारा कृषि एवं संबंधित क्षेत्रों के विकास हेतु गठित की गई कृषि टास्क फोर्स स्थायी कार्यसमूहों के अध्यक्षों की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर बैठक में राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष सुनील कुमार, कृषि टास्क फोर्स समिति के अध्यक्ष डॉ. डी.के मारोठिया सहित स्थायी कार्य समूहों के अध्यक्ष उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्काई योजना में 50 लाख परिवारों को स्मार्ट फोन देने जा रहे हैं। इस फोन के जरिए कृषि संबंधी जानकारी के लिए जरूरी एप्लीकेशन तैयार किया जाए। उन्होंने कहा कि स्कूली स्तर पर कृषि के प्रति विद्यार्थियों में आकर्षण बढ़ने के लिए कृषि से जुड़ी बातें और इससे होने वाले फायदे के संबंध स्कूली स्तर पर पहल की जाए जिससे शुरू से ही विद्यार्थियों में कृषि के प्रति जुड़ाव पैदा हो सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को पंचायतों में ग्राम सभाओं के माध्यम से कृषि से जुड़ी तकनीकों की जानकारी भी दी जा सकती है। उन्होंने कहा कि गांव के पढ़े-लिखे युवाओं को कृषि विज्ञान केन्द्रों के माध्यम से प्रशिक्षित कर मनरेगा में काम उपलब्ध कराया जा सकता है। बैठक में कृषि और संबंधित क्षेत्रों के विकास हेतु राज्य योजना आयोग द्वारा गठित कृषि टास्क फोर्स की स्थाई कार्य समूहों की अनुशंसा का प्रस्तुतिकरण दिया गया।

बैठक में डॉ. एस. के. पाटिल, कुलपति, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, प्रो. सुखपाल सिंह, प्रोफेसर, सेंटर फॉर मैनेजमेंट इन एग्रीकल्चर, भारतीय प्रबंध संस्थान, अहमदाबाद, प्रो. ब्रिज गोपाल, समन्वयक, सेन्टर फॉर इनलैण्ड वाटर्स इन साउथ एशिया, जयपुर, डॉ. व्ही. पी. सिंह, सीनियर एडवाइजर फॉर पॉलिसी एण्ड डेवलपमेन्ट, वर्ल्ड एग्रोफॉरेस्ट्री सेन्टर, नई दिल्ली, प्रो. एच. एस. शैलेन्द्र, ग्रामीण प्रबंधन संस्थान, आणंद (इरमा), तथा डॉ. विश्व वल्लभ, प्रोफेसर, अर्थशास्त्र एवं समन्वयक, सेंटर फार रूरल मैनेजमेंट, स्कूल ऑफ बिज़नेस एण्ड ह्यूमन रिसॉर्सेज़, एक्स.एल.आर.आई., जमशेदपुर मुख्यमंत्री के विशेष सचिव मुकेश बंसल भी बैठक में उपस्थित थे।

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.