सरगुजा में मीडिया प्रमाणन एवं निगरानी समिति का हुआ प्रशिक्षण

रोशन सोनी

अम्बिकापुर।

विधानसभा आम निर्वाचन 2018 के सुचारू संचालन को दृष्टिगत रखते हुए आज जिला कार्यालय के सभाकक्ष में मीडिया प्रमाणन एवं निगरानी समिति के सदस्य तथा प्रिंट मीडिया इकाई, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया इकाई, सोशल मीडिया इकाई, एफएम स्थानीय रेडियों इकाई, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया अनुवीक्षण इकाई एवं मीडिया सेंटर के प्रभारी अधिकारी एवं सहायक कर्मचारियों को प्रशिक्षित किया गया।

कलेक्टर तथा मीडिया प्रमाणन एवं निगरानी समिति के अध्यक्ष डॉ. सारांश मित्तर ने बताया कि सार्वजनिक मीडिया में प्रकाशित एवं प्रसारित होने वाले किसी भी राजनैतिक विज्ञापन की जांच के बाद प्रकाशन एवं प्रसारण की अनुमति दी जाएगी।

कोई भी राजनैतिक दल, समूह अथवा प्रत्याशी अनिवार्य रूप से सार्वजनिक मीडिया में कोई विज्ञापन देने से पहले निर्धारित समिति से उसकी अनुमति प्राप्त करेंगे। उन्होंने बताया कि समिति द्वारा विज्ञापनों के प्रारूप एवं पेड न्यूज का सूक्ष्म अवलोकन करते हुए नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने बताया कि मीडिया प्रमाणन के संबंध में माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों का नियमानुसार पालन सुनिश्चित किया जाएगा।

डॉ. मित्तर ने बताया है कि मीडिया प्रमाणन का मूल आधार आदर्श आचार संहिता के पालन से जुड़ा है। ऐसे कोई भी विज्ञापन का प्रमाणीकरण नहीं किया जाएगा, जिससे सामाजिक समरसता बिगड़ने की आशंका हो अथवा तनाव बढ़ाने वाला हो। शांति भंग होने तथा संविधान एवं कानून के विपरीत पाए जाने वाले विज्ञापन का प्रमाणीकरण भी नहीं किया जाएगा। नैतिकता, सदाचार के विपरीत तथा किसी की धार्मिक आस्था को ठेस पहुंचाने वाले विज्ञापन का प्रमाणीकरण भी नहीं किया जाएगा।

आशय यह है कि आदर्श आचार सिंंहता के विपरीत पाए जाने वाले किसी भी विज्ञापन के प्रकाशन एवं प्रसारण की अनुमति नहीं दी जाएगी। मीडिया प्रमाणन, मान्यता प्राप्त राजनैतिक दल, मान्यता अप्राप्त राजनैतिक दल, राजनैतिक संगठन, व्यक्तियों के समूह, ट्रस्ट, एकल प्रत्याशी तथा किसी भी अन्य व्यक्ति के लिए जरूरी है।

कोई भी राजनैतिक दल अथवा प्रत्याशी परिशिष्ट क में अपना आवेदन प्रस्तावित विज्ञापन की डिजिटल प्रति और दो प्रतियो में उसका प्रतिलेख प्रसारण प्रारंभ होने की निर्धारित तिथि से कम से कम तीन दिन पूर्व संबंधित प्रमाणन समिति अथवा विहित अधिकारी को प्रस्तुत करेगा। किसी अन्य व्यक्ति, अनिबंधित राजनैतिक दल, संगठन अथवा समूह और ट्रस्ट के लिए यह समय-सीमा कम से कम सात दिन पूर्व होगी।

आदर्श आचार संहिता लागू होने के पश्चात प्रिंट मीडिया इकाई, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया इकाई, सोशल मीडिया इकाई, एफ.एम. स्थानीय रेडियों इकाई, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया अनुवीक्षण इकाई एवं मीडिया सेंटर के माध्यम से प्रकाशित होने वाले विज्ञापनों एवं पेड न्यूज पर नजर रखी जाएगी तथा आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन पाये जाने पर नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।

यह प्रशिक्षण मास्टर ट्रेनर प्रोफेसर रिजवानउल्ला द्वारा दिया गया। प्रशिक्षण में जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी नम्रता गांधी, अपर कलेक्टर चन्द्रकांता ध्रुव, सहायक कलेक्टर आकाश छिकारा, उप जिला निर्वाचन अधिकारी नयनतारा सिंह, आकाशवाणी के सहायक केन्द्र निर्देशक एल.एल भौर्य, तपन बनर्जी तथा संबंधित प्रशिक्षणार्थी उपस्थित थे।

Back to top button