चिकित्सा अधिकारियों को दिया गया प्रशिक्षण

डॉ. आर.सी राम द्वारा चिकित्सकों को आवश्यक जानकारी प्रदान की गई

रायपुर : जिला योजना एवं सांख्यिकी कार्यालय रायपुर द्वारा मृत्यु के कारणों का चिकित्सीय प्रमाणीकरण के सुदृढ़ीकरण विषय पर जिले के समस्त निजी नर्सिंग होम एवं निजी चिकित्सालयों के चिकित्साधिकारों का प्रशिक्षण आज यहां जिला कलेक्टोरेट के रेडक्रास सभाकक्ष में आयोजित किया गया।

जन्म-मृत्यु रजिस्ट्रीकरण अधिनियम, 1969 की धारा 10(2) एवं 10(3) के तहत् समस्त शासकीय एवं निजी चिकित्सालय और नर्सिंग होम में होने वाली मृत्यु के प्रकरणों पर मृत्यु के कारणों का चिकित्सीय प्रमाणीकरण प्रपत्र 4 एवं 4(ं) में जानकारी देना अनिवार्य है।

संस्थागत मृत्यु के प्रकरणों पर मृत्यु सूचना प्रपत्र के साथ प्रपत्र 4 में वांछित जानकारी निकटतम रजिस्ट्रार को दिया जाना अनिवार्य है। ये जानकारियां शासन द्वारा स्वास्थ्यगत निति निर्धारण में काफी महत्वपूर्ण होती है।

राज्य के पंडित जवाहरलाल नेहरू स्मृति चिकित्सालय रायपुर के मास्टर ट्रेनर डॉ. आर.सी राम द्वारा इस संबंध में चिकित्सकों को आवश्यक जानकारी प्रदान की गई। इसकी उपयोगिता एवं आ रही कठिनाईयों पर चर्चा की गई। जिले के लगभग 140 निजी चिकित्सा अधिकारी द्वारा यह प्रशिक्षण प्राप्त किया गया।

जिला रजिस्ट्रार प्राची मिश्रा, जनगणना कार्य निदेशालय के उप निदेशक प्रदीप साव, आर्थिक एवं सांख्यिकी संचालनालय के सहायक संचालक ए.के. श्रीवास्तव, नगर पालिक निगम रायपुर के रजिस्ट्रार विजय पाण्डेय, आर.बी. चौरसिया, पी.एल. नायक सहायक संचालक एवं सुभाष बंजारे सहायक.सा. अधिकारी प्रशिक्षण में उपस्थित रहे।

1
Back to top button