Uncategorizedबड़ी खबरमध्यप्रदेशराष्ट्रीय

इंदौर में तेज हवाओं से गिरे पेड़, पन्ना में बारिश से भीगा गेहूं, धार में दो की मौत

तेज हवाओं से इंदौर में गिरे 6 पेड़

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल और इंदौर सहित कई इलाकों में निसर्ग की वजह से तेज बारिश हो रही है। मालवा-निमाड़ अंचल में बुधवार रात से बारिश का दौर जारी है।

खंडवा में सुबह आठ बजे तक तीन इंच से ज्यादा बारिश हो गई है। कुंदा नदी में बाढ़ का पानी आ गया है। बड़वानी विकासखंड में 4 इंच, सेंधवा चाचरिया व निवाली में 4 इंच से अधिक बारिश हुई है। धार जिले के डेहरी में कच्चे घर की दीवार‍ गिरने से एक युवक और बुजुर्ग महिला की मौत।

पन्ना में अचानक जोरदार बारिश शुरू हो गई है, जिससे खरीदी केंद्रों में रखा हजारों कुंटल अनाज भीग गया। बारिश तो इतनी तेज थी कि बोरिया पानी में डूब गई साथ ही गांव के कच्चे घरों में पानी घुस गया है,

गलियां तरबतर हो गई। सामान्यता पन्ना जिले में 18 जून के बाद पानी बरसता रहा है लेकिन 15 दिन पहले से ही बरसात शुरू हो जाने से सब कुछ तहस-नहस हो गया है। पन्ना जिले के सिमरिया अनाज खरीदी केंद्र के मैदान में भीग रहा यह गेहूं किसानों से खरीदा गया है प्रशासन की लापरवाही के कारण यह अनाज पानी में भीग गया क्योंकि सुबह से जोरदार बारिश हो रही है और अनाज को भीगने से बचाने के लिए कोई उचित प्रबंध नहीं किए गए।

तेज हवाओं से इंदौर में गिरे 6 पेड़

निसर्ग तूफान को लेकर इंदौर नगर निगम भी अलर्ट हो गया है। तूफान के मद्देनजर निगम के आला अधिकारियों निगम कंट्रोल रूम में मौजूद है। अपर आयुक्त, उपायुक्त सहित एसडीआरएफ की टीम के अधिकारी भी नगर निगम कंट्रोल रूम पर मौजूद हैं। वायरलेस सेट के माध्यम से लगातार शहर के हालात की जानकारी ली जा रही है। अब तक शहर में 6 पेड़ो के गिरने की सूचना कंट्रोल रूम को मिली है। निगम आयुक्त प्रतिभा पाल अधिकारियों से लगातार जानकारियां ले रही है।

निसर्ग से महाकौशल और विंध्य के कई जिलों में भी बारिश

निसर्ग चक्रवात की वजह से महाकौशल, विंध्य के कई जिलों में तेज बारिश हुई। जबलपूर, मंडला, नरसिंहपुर, सतना, रीवा, सीधी, उमरिया, अनूपुर में रुक-रुक कर बारिश जारी। सबसे ज्यादा मंडला में पौने दो इंच बारिश 1 दिन में दर्ज हुई, जबलपुर में आधा इंच से ज्यादा वर्षा दर्ज। अगले 24 घंटे ऐसा ही मौसम बने रहने की संभावना, मौसम विभाग ने इसे लेकर अजर्ट जारी किया है।

बड़वानी में बारिश से परेशान हुए किसान

बड़वानी जिले में निसर्ग चक्रवात की वजह से तेज बारिश गर्मी से राहत लेकर आई, लेकिन किसानों पर कहर आ गया। जिन किसानों ने खेत में फसल लगा रखी थी, उन्हें नुकसान की आशंका है। अंजड़ निवासी ऋषि शर्मा खेत कि मेढ़ पर लगा पाला फूटने से लगभग 6 एकड़ की कपास की फसल को नुकसान पहुचा है। वहीं नर्मदा से सटे क्षेत्र के खेतों में अलग-अलग फसलों को तैयार करे खेतों में पानी भरने से किसानों ने बताया अब बोवनी में देरी होगी, जिससे फसल पिछडेगी, बीती रात हुई 3 से 4 इंच वर्षा ने कई खेतों में जलभराव जैसी स्थिति पैदा कर दी है।

शहडोल में गर्मी से लोगों को मिली राहत

शहडोल गुरुवार की सुबह 3 बजे से कभी धीमे तो कभी तेज बारिश हो रही है इस साल प्री मानसून की यह पहली बारिश है जिससे गर्मी से तपते हुए शहर को ठंडक मिल रही है। जून की शुरुआत में ही इस तरह का बारिश का मौसम बन जाने से लोगों को काफी राहत महसूस हो रही है।

Tags
Back to top button