महासमुंद विधायक के खिलाफ लामबंद हुआ आदिवासी छात्र संगठन

संगठन ने की निष्पक्ष जांच की मांग

महासमुंद विधायक के खिलाफ लामबंद हुआ आदिवासी छात्र संगठन

रायपुर : महासमुंद के निर्दलीय विधायक विमल चोपड़ा के साथ मारपीट का मामला थमने के नाम नहीं ले रहा है. विधायक जहाँ इस मारपीट को लेकर मंत्रियों से लेकर मुख्यमंत्री तक इसकी शिकायत कर रहे हैं तो वहीँ इस घटना के बाद से आदिवासी समाज के युवा भी मामले में निष्पक्ष जांच कराने को लेकर लामबंद हो गए हैं.

आदिवासी छात्र संगठन ने इस पुरे मामले को लेकर विधायक को ही कटघरे में खड़े किया है. संगठन के अध्यक्ष योगेश ठाकुर का आरोप है कि विधायक विमल चोपड़ा के समर्थकों ने नाबालिग अनुसूचित जाति जनजाति के बच्चों के साथ मारपीट की है जिसके बाद विधायक ने अपने समर्थकों का बचाव करते हुए बच्चों के परिजनों को धमकाया है.

योगेश ठाकुर ने बताया कि नाबालिग बच्चे खेल रहे थे जिस दौरान उसने स्टेडियम में लगा दरवाजा टूट गया जिसके बाद अंकित लुनिया और उसके साथियों ने बच्चों के साथ जमकर मारपीट की है.

योगेश ठाकुर ने कहा की विधायक सस्ती राजनीति कर रहे हैं और अपने पॉवर का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं. आदिवासी छात्र संगठन के अध्यक्ष योगेश ठाकुर ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर एसी एसटी के बच्चों के ऊपर किसी तरह की कार्रवाई की गई तो वो सड़क पर उतर आयेंगे.

Back to top button