छत्तीसगढ़बड़ी खबरराज्य

आज CAA समर्थन में 500 मीटर तिरंगे के साथ निकलेगा तिरंगा यात्रा

हिन्दुस्तान सुरक्षा मंच के कार्यकर्ताओ ने सीएए के समर्थन में समाज के सभी वर्गों से जनसंपर्क कर रैली में शामिल होने कर रहे है आहवान।

हिमांशु सिंह ठाकुर ब्यूरो कवर्धा की खास रिपोर्ट।

नागरिकता संसोधन विधेयक CAA के समर्थन में 19 जनवरी दिन रविवार समय 12 बजे से हिंदुस्तान सुरक्षा मंच के तत्वाधान में विशाल तिरंगा महायात्रा का आयोजन किया गया है।

कवर्धा : हिंदुस्तान सुरक्षा मंच के कार्यकर्ताओं द्वारा प्राप्त जानकारी अनुसार स्थानीय अम्बेडकर चौक के पास भारत माता प्रतिमा स्थल के पास पे सभा का आयोजन दोपहर 12 बजे से प्रारम्भ होगी सभा पश्चात नगर के प्रमुख मार्ग अम्बेडकर चौक से सिग्नल चौक गुरुनानक चौक मार्केट लाइन करपात्री चौक यूनियन चौक राजमहल चौक से गुजरती हुई वापस सभा स्थल पर वंदे मातरम गान के साथ समापन होगी इस तिरंगा यात्रा को लेकर नगर के सभी राष्ट्रप्रेमी बंधुओं में काफी उत्साह है और इसके लिए सभी अपने स्तर पर व्यापक तैयारी में लगे है।

यात्रा के विशेष स्वरूप के लिए 500 मीटर का तिरंगा बनवाया गया है जिसे भारत माता के सपूत हाथों में लेकर चलेंगे। साथ ही अदम्य उत्साह के साथ लगभग 200 तिरंगों का वितरण भी हो चुका है इस यात्रा में लगभग 5000 से ऊपर लोगो के शामिल होने की उम्मीद है यात्रा की तैयारी काफी दिनों से चल रही है जिसमे सबसे पहले देश मे चल रहे अफवाहों और अनैतिक विरोध की सच्चाई को लोगो तक पहुचाने का काम किया जा रहा है

इस विधेयक को लेकर लोगो के मन मे गलत शंका पैदा कर उन्हें देश से निकालने की बात जो कर रहे है वो पूरी तरह से गलत है देश का बंटवारा धर्म के आधार पर हुआ ये हमारा काला इतिहास है देश के बंटवारे के बाद से पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में हिंदुओं, जैन, सिख, पारसी और बौद्ध समुदाय के लोगो पर इन देशों में काफी अत्याचार हुए बहन बेटियों का जबरन अपहरण करना, धर्म परिवर्तन करवाना , जान से मार देना इन देशों में आम बात थी।

सोशल मीडिया के अभाव में ये बाते ज्यादा प्रचिलित नही होती थी मगर वहां गैर मुस्लिम समुदाय की घटती जनसंख्या इस बात का जीता जागता संदेश था। हाल ही में सिखों के प्रथम गुरु गुरुनानक देव जी के जन्म स्थल ननकाना साहब में हुई घटना इस बात का प्रमाण है अपने धर्म और अपनी इज्जत बचाने के लिए जो लोग भारत आये उन्हें भी यहाँ जो कि उनका अपना देश था

एक शरणार्थी केम्प में रखा गया जहां उनका जीवन स्तर निम्न से निम्नतम दर्जे का है आजादी के इतने वर्षों के बाद भी उन्हें देश मे नागरिकता का दर्जा नही मिला और वे नरक सी जिंदगी जीने को मजबूर है नागरिक संसोधन विधेयक उन्ही लोगो को अपनी नागरिकता प्रदान कर देश मे सम्मान के साथ जीने का अधिकार देता है तो इसमें गलत क्या है,

हमे अपने ही भाई बहनों को नागरिकता देने के लिए उदार भाव से उन्हें सर आंखों में बैठाना चाहिए हिंदुस्तान सुरक्षा मंच धर्म के आधार पर प्रताड़ित लोगो के साथ है और उन्हें नागरिकता देने का समर्थन करता है यहां एक बात ध्यान देने योग्य है कि इस कानून में 31 दिसम्बर 2014 तक भारत मे आये ऐसे प्रताड़ित भाई बहनों को ही नागरिकता दी जा रही है।

Tags
Back to top button