ममता बनर्जी से जुड़ेगा जया बच्चन का कनेक्शन, हो सकती हैं तृणमूल की राज्यसभा उम्मीदवार

ममता बनर्जी की पार्टी के नेता ने जानकारी देते हुए कहा, 'जया बच्चन की बंगाली जड़े और राज्य में उनकी लोकप्रियता उन्हें एक आदर्श उम्मीदवार बनाती हैं। उनके पति और बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन ने कई बार खुद को बंगाल का दामाद कहा है।'

समाजवादी पार्टी की नेता और बॉलीवुड की वरिष्ठ अदाकार जय बच्चान का कनेक्शन अब तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) से जुड़ सकता है। सूत्रों की मानें तो पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी जया बच्चन को राज्यसभा की उम्मीदवार बना सकती हैं।

राज्यसभा में जया बच्चन का तीसरा कार्यकाल 3 अप्रैल को समाप्त होने वाला है। टीएमसी के एक वरिष्ठ नेता ने इस बात की जानकारी दी है कि उनकी पार्टी से राज्यसभा की उम्मीदवारी के लिए सबसे आगे जया बच्चन का नाम है, लेकिन इस मामले में अंतिम फैसला टीएमसी चीफ ममता बनर्जी ही लेंगी।

उनके फैसले के बाद ही जया बच्चन की उम्मीदवारी का ऐलान किया जाएगा। वरिष्ठ नेता ने कहा, इस मामले में आधिकारिक घोषणा 18 मार्च के आसपास होगी।

आपको बता दें कि अप्रैल में राज्यसभा के 58 सासंदों का कार्यकाल समाप्त होने वाला है। इनमें से दस सीटें उत्तर प्रदेश से खाली होंगी। यूपी के लोकसभा चुनाव में 403 सीटों में से 312 सीटें जीतने वाली बीजेपी राज्यसभा की इन सीटों में अपना कब्जा जमा सकती है।

टीएमसी के ही एक अन्य सूत्र ने बताया,हमारी सांसद की चार सीटें खाली होने जा रही हैं और इनके लिए कई लोग पैरवी कर रहे हैं। हमारी पार्टी की ओर से इस बार राज्यसभा में कम से कम दो नए उम्मीदवार आपको दिखाई देंगे।

ममता बनर्जी की पार्टी के नेता ने जानकारी देते हुए कहा,जया बच्चन की बंगाली जड़े और राज्य में उनकी लोकप्रियता उन्हें एक आदर्श उम्मीदवार बनाती हैं। उनके पति और बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन ने कई बार खुद को बंगाल का दामाद कहा है।

अप्रैल 2017 में जब एक बीजेपी के युवा कार्यकर्ता ने बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के ऊपर 11 लाख का इनाम रख दिया था, उस वक्त अमिताभ बच्चन ने बीजेपी के ऊपर जमकर भड़ास निकाली थी। उन्होंने कहा था,आप गायों को बचा सकते हो, लेकिन देश की औरतों को ही अत्याचारों का सामना करना पड़ रहा है।

इसके अलावा जया बच्चन और अमिताभ बच्चन कोलकाता इंटरनेशनल फेस्टिवल में भी शिरकत करते रहे हैं। आपको बता दें कि राज्यसभा में जिन चार तृणमूल कांग्रेस के सासंदों का कार्यकाल समाप्त हो रहा है उनमें शारदा स्कैम के आरोपी कुणाल घोष का नाम शामिल है।

घोष को पार्टी द्वारा अनिश्चित काल तक के लिए निलंबित कर दिया गया है। दूसरा नाम मुकुल रॉय का है, जिन्होंने पिछले साल अक्टूबर में बीजेपी ज्वॉइन कर ली थी। तीसरे टीएमसी सांसद पत्रकार विवेक गुप्ता हैं और चौथे सासंद पत्रकार मोहम्मद नदीमुल हक हैं।

new jindal advt tree advt
Back to top button