राष्ट्रीय

ताजमहल भारत की सांस्कृतिक धरोहर : त्रिवेंद्र सिंह रावत

उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बताया ‘ताज’ को भारत की सांस्कृतिक धरोहर

मेरठ : ताजमहल पर मचे बवाल के बीच उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रविवार को कहा कि ‘‘ताजमहल भारत की सांस्कृतिक धरोहर है.’’रावत ने मेरठ के एक इंटर कॉलेज में आयोजित एक समारोह में कहा कि आने वाले समय में उत्तराखंड के गांवों का विकास किया जाएगा. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड से पलायन को रोका जाएगा. राज्य के लोगों के लिए रोजगार, शिक्षा और स्वास्थ्य पर काम किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि उत्तराखंड में सेना के सहयोग से बागवानी की योजना बन रही है. दस करोड़ पौधे लगाए जा रहे हैं.

इसस पहले शनिवार को उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि ताजमहल भारत का ‘भूषण’ है. नाईक ने पत्रकारों से कहा कि ताजमहल दुनिया के नजरिए से भारत का भूषण है. उन्होंने कहा, ‘‘हमारे प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री ने भी स्पष्ट कर दिया है … ताज हमारी धरोहर है. यदि कोई इसकी उपेक्षा करता है तो उसकी निंदा होनी चाहिए.’’

बता दें कि पिछले दिनों ताजमहल से कई विवाद जुड़ गए. सबसे पहले पर्यटन विभाग की पुस्तिका में ताज महल को शामिल नहीं किए जाने को लेकर विवाद उठा था. उसके बाद भाजपा विधायक संगीत सोम ने इस इमारत को भारतीय संस्कृति पर ‘धब्बा’ बताते हुए नया विवाद पैदा कर दिया था. भाजपा के राज्यसभा सांसद विनय कटियार ने इसे ‘तेजो महालय’ करार देते हुए इस विवाद को और हवा दे दी थी.

बुधवार (26 अक्तूबर) को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ताजमहल को देश की वास्तुकला का अनमोल रत्न करार दिया था और कहा कि यह देश की विरासत है. योगी आदिन्यनाथ ने कहा, ‘इसे भारतीय मजदूरों ने अपने खून-पसीने से बनाया है.

ताजमहल का संरक्षण संवर्धन और इससे जुड़ा पर्यटन व्यवसाय और अधिक तरक्की करें इसके प्रति सरकार प्रयासरत है और संकल्पित भी.’ योगी आदित्यनाथ ने ताजमहल दौरा भी किया और इस दौरान उन्होंने शाहजहां और मुमताज महल की कब्रें देखीं. वे मुख्य मकबरे पर पहुंचे और योगी ने विश्व के सात अजूबों में शामिल स्मारक में तकरीबन 35 मिनट का समय बिताया.

ताज महल को लेकर विवाद के बीच पीएम मोदी ने भी देश की धरोहरों पर गर्व करने की सीख दी थी. पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार (17 अक्टूबर) को भारत के पहले अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान के उद्घाटन के मौके पर कहा कि अपने देश की धरोहरों पर गर्व किए बिना आगे बढ़ नहीं सकता.

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *