गणतंत्र दिवस समारोह में हिस्सा नहीं लेंगे ट्रंप, ठुकराया मोदी का न्यौता

रुस से रक्षा समझौता से संबंधों में आई खटास

नई दिल्ली। भारत ने आगामी गणतंत्र दिवस परेड में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को बतौर अतिथि शामिल होने का न्यौता दिया था। अब खबर आयी है कि डोनाल्ड ट्रंप ने भारत का यह न्यौता ठुकरा दिया है।

खबर के अनुसार, अमेरिका ने भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को एक पत्र भेजकर अपने इस फैसले की जानकारी दी है। पत्र में अमेरिका ने दुख जताते हुए कहा है कि राष्ट्रपति ट्रंप अपनी घरेलू जिम्मेदारियों के चलते भारत का यह न्यौता स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं।

दरअसल डोनाल्ड ट्रंप को अमेरिका में सालाना आयोजित होने वाली स्टेट आॅफ यूनियन की बैठक को संबोधित करना है। हालांकि यहां ये बात गौर करने लायक है कि ट्रंप के पूर्ववर्ती बराक ओबामा ने साल 2015 में अपनी घरेलू जिम्मेदारियों के बावजूद भारत के गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने का न्यौता स्वीकार किया था।

दरअसल भारत और अमेरिका के संबंध इन दिनों थोड़े तनावपूर्ण बने हुए हैं। माना जा रहा है कि इसी के चलते ट्रंप ने भारत का न्यौता स्वीकार नहीं किया है। बता दें कि भारत और अमेरिका के संबंधों में खटास का कारण हाल ही में भारत और रुस के बीच हुआ रक्षा समझौता है। जिसमें भारत ने अमेरिकी आपत्ति के बावजूद रुस के साथ एस-400 एअर डिफेंस मिसाइल सिस्टम खरीदने का करार किया है।

जिसके चलते भारत पर अमेरिकी कानून काटसा के तहत प्रतिबंध लगने का भी डर बना हुआ है। खबर के अनुसार, भारत ने बीती 13 जुलाई को अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने का आधिकारिक न्यौता भिजवाया था।

हालांकि इस पर अमेरिका ने अपने जवाब में कहा था कि वह भारत और अमेरिका के बीच सितंबर में होने वाली 2+2 बैठक के बाद कोई फैसला करेगा। अब जिस तरह से अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारत का न्यौता ठुकराया है, उससे दोनों देशों के संबंधों में आए तनाव का सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है।

 <>

Back to top button