छत्तीसगढ़

सीएम का मंच छोड़कर चले गए टीएस बाबा

अंबिकापुर : बोनस तिहार कार्यक्रम में जिला प्रशासन द्वारा प्रोटोकॉल का पालन नहीं किए जाने व जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा से नाराज होकर विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष बीच में ही कार्यक्रम को छोड़कर चले गए। उन्होंने इस पर मुख्यमंत्री से भी आपत्ति जताई व कहा कि यह काफी अव्यवहारिक है।

प्रदेश सरकार द्वारा गुरुवार को पीजी कॉलेज मैदान में सरगुजा जिले के किसानों को बोनस वितरण करने हेतु बोनस तिहार कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इसमें विशिष्ट अतिथि के तौर पर विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव को भी आमंत्रित किया गया था। नेता प्रतिपक्ष कार्यक्रम में शामिल हुए, लेकिन उनकी नाराजगी उस समय इतनी अधिक बढ़ गई, जब उन्हें कार्यक्रम में बोलने का अवसर प्रशासन द्वारा नहीं दिया गया।

इससे नाराज होकर नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के सामने आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा कि सरकार आपकी है, मंच आपका है। उन्हें बुलाना ही नहीं था। उन्होंने इसे काफी अव्यवहारिक बताया तथा सीएम का भाषण शुरू होने के पहले ही मंच को छोड़कर चले गए।

नेता प्रतिपक्ष से पहले महापौर डॉ अजय तिर्की व लुण्ड्रा विधायक चिंतामणी महाराज भी उपेक्षित होने से कार्यक्रम को छोड़कर चले गए। नेता प्रतिपक्ष को कार्यक्रम के बीच से ही जाता देख प्रशासनिक अधिकारी भी हरकत में आए, लेकिन जब तक वे उन्हें मनाते वे वहां से रवाना हो चुके थे।

भाजपा का मंच बनाने से नाराज हुए कांगेसी
पूरा आयोजन जिला प्रशासन का था और शासन द्वारा मंच बनाया गया था। लेकिन भाजपा कार्यक्रर्ताओं द्वारा शासकीय मंच से ‘चौथी बार रमन सरकार’ का नारा लगाने से कांग्रेस विधायक व कार्यकर्ता नाराज हो गए। नेता प्रतिपक्ष ने इस पर आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा कि प्रशासनिक कार्यक्रम को पूरा भाजपा का बना दिया गया है।

सीएम की जानकारी में हुई उपेक्षा
मुख्यमंत्री को हम सभी काफी व्यवहारिक मानते थे। लेकिन इस तरह का व्यवहार काफी आश्चर्यजनक था। किसी शासकीय मंच से भाजपा की सरकार के लिए नारेबाजी करना ठीक नहीं है। जब आपने किसी राजनीतिक दल के नेता को बुलाया हो तो उसके सम्मान का ध्यान रखना चाहिए था। विपक्षियों के बोलने से इतना डरते हैं तो उन्हें बुलाना ही नहीं चाहिए। इस संबंध में सीएम से भी आपत्ति दर्ज कराई गई है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.