नकली सोना को असली बताकर ठगी करने वाले दो आरोपी गिरफ्तार

- चंदा लेने के बहाने अकेली महिलाओं को बनाते थे निशाना

महासमुंद।

नकली सोना देकर ठगी करने वाले दो शातिरों को पुलिस की टीम ने गिरफ्तार किया है. आरोपी बड़े ही शातिर तरीकें से लोगों को पहले अपने झांसे में लेते थे, उसके बाद ठगी कर वहां से रफू-चक्कर हो जाते थे. महासमुंद निवासी कांती राजपूत ने थाने में ठगी होने की रिपोर्ट लिखाई थी, पीडिता ने पुलिस को बताया कि दो लोग आॅर्फन चैरेटी के नाम पर चंदा लेने घर आये थे.

उसी दौरान दोनों व्यक्तियों ने कहा कि कही पे खुदाई के दौरान उन्हें सोने-चांदी के आभूषण मिले है. ऐसा कहकर आरोपी प्रभू भाठ, विजय सोलंकी ने एक सोने के जैसा दिखने वाला हर में से एक असली सोना का थोड़ा टुकड़ा सेंपल के लिए कांती को दे दिया। सेंपल में सोने के टुकड़े को असली पाया गया. विश्वास में आकर कांती राजपूत हर को खरीदने की बात करती है. आरोपियों और कांती राजपूत के बीच हार का सौदा 80 हजार में होता है. आरोपियों के जाने के बाद कांती हार को परिजन को दिखाती है. जिससे पता चलता है की हार नकली है.

जिसकी शिकायत पीड़िता कांती द्वारा थाने में की गई. मामले में एसपी संतोष सिंह द्वारा तत्काल क्राईम ब्राचं की टीम को आरोपियों की तलाश हेतु निर्देशित किया गया। इसी दौरान क्राईम ब्राचं को सूचना मिली कि कोमाखान क्षेत्र में दो संदिग्ध व्यक्ति घुम रहे है। क्राइ्र्रम ब्राचं की टीम द्वारा दो व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया. पूछताछ में दोनों आरोपियों ने ठगी करना कबूल किया। गिरफ्तार आरोपियों में प्रभू भाठ बोदला झांसी, दूसरे व्यक्ति विजय सोलंकी नागपुर महाराष्ट्र का रहने वाला है। आरोपियों के पास से नकली सोने की चैन, नगदी रकम 72,350, चांदी का सिक्का एंव अन्य सामग्री जब्त की गई है।

Back to top button