ढाई घंटे की जटिल सर्जरी, डॉक्टर्स ने बना दिया नया गर्भाशय

रायपुर।

रायपुर की रहने वाली युवती के शरीर में न तो योनी थी, न ही गर्भाशय। ऐसे में वह शादी नहीं कर सकती थी। परिवारजन उसे लेकर डीकेएस सुपर स्पेशलिटी अस्पताल पहुंचे। यहां डॉक्टर्स की टीम ने पहली बार मेयर रोकितांस्की सिंड्रोम से पीड़ित 24 साल की इस युवती का ढाई घंटे में सफल ऑपरेशन कर योनि बना दी।

क्या होता है मेयर रोकितांस्की सिंड्रोम

मेयर रोकितांस्की सिंड्रोम का मतलब महिलाओं में योनि और गर्भाशय का अविकसित होना होता है। उनके बाह्य जननांग सामान्य होते हैं। इससे पीड़ित युवती की प्लास्टिक सर्जरी की गई। अब वह वैवाहिक जीवन जी सकती है।

डॉक्टर्स की टीम ने ऐसे किया ऑपरेशन

प्लास्टिक सर्जरी विभाग के डॉक्टर केएन ध्रुव ने बताया कि मासिक धर्म न होने की समस्या लेकर मरीज पहुंची थी। सोनोग्राफी परीक्षण में पता चला कि युवती में यह समस्या तो है ही, गर्भाशय और योनि भी नहीं है। इसके बाद डॉ. ध्रुव और उनकी टीम ने एबी मेकिंडो प्रणाली से कृत्रिम योनि बनाई। डॉक्टर्स ने बताया कि 5000 महिलाओं में से किसी एक में यह समस्या पाई जाती है।

इन्होंने की सर्जरी

डॉ. केएन ध्रुव के साथ सर्जरी विभाग से डॉ. राकेश प्रधान, निश्चेतना विभाग के डॉ. दीपक सिंह ने सर्जरी में सहयोग किया।

new jindal advt tree advt
Back to top button