क्राइम

प्लांट के दो हाईवा ड्रायवर वाहनों से करते थे डीजल की चोरी

पूंजीपथरा पुलिस की एक और उम्दा कार्यवाही

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

  • रिपोर्ट के चंद घटें बाद तीन आरोपी किये गये गिरफ्तार…
  • पूंजीपथरा पुलिस की एक और उम्दा कार्यवाही…

पूंजीपथरा पुलिस द्वारा आज दिनांक 22.10.2020 को NRVS प्लांट तराईमाल के ऐसे दो हाईवा ड्रायवरों को गिरफ्तार किया गया है, जो प्लांट के साथ दगेबाजी कर इन वाहनों के डीजल को चोरी कर बेचा करते थें, जिन्हें वे खुद चलाया करते थे ।

NRVS प्लांट तराईमाल के मैनेजर पवन कुमार अग्रवाल ने बताया कि फैक्ट्री में वाहन चालक गोपाल प्रसाद भट्ठ एवं पंकज पासवान कार्यरत हैं । दिनांक 21.10.20 को चालक गोपाल प्रसाद भट्ठ हाईवा क्रमांक CG 13 AF 5792 एवं पंकज पासवान चालक हाईवा क्रमांक CG 13 AB 0889 में स्पंज आयरन लोड कर NR इस्पात देलारी जाने के लिये निकले थे जो दिनांक 22.10.20 के 10.00 बजे तक वापस फैक्ट्ररी तराईमाल नही आये ।

प्लांट के दो हाईवा ड्रायवर वाहनों से करते थे डीजल की चोरी

आरोपियों के पास से 120 लिटर डीजल जप्त

तब मैनेजर दो गार्ड को NR इस्पात देलारी पता करने भेजे तो दोनों गार्डों ने बताया कि दोनों हाईवा वाहन पाली रोड जंगल किनारे खडा है । तब मैनेजर आकर देखा तो वाहन चालक नहीं थे । गाडी का डीजल टैंक खुला था जिसका डीजल चोरी कर दोनों ड्रायवर भाग गये थे । डीजल चोरी की रिपोर्ट पर थाना पूंजीपथरा में अप.क्र. 207/2020 धारा 381,34 IPC पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया ।

आरोपियों की पतासाजी दरम्यान थाना पूंजीपथरा के सउनि चंदन नेताम एवं हमराह स्टाफ द्वारा ड्रायवर पंकज पासवान और गोपाल प्रसाद भट्ठ को पाली जंगल में सराईपाली के भरत किसान के साथ देखे, तीनों भरत किसान के बोलेरो में डीजल लोड़कर उसे बेचने ले जाने की फिराक में थे । आरोपियों के पास से 120 लिटर डीजल एवं बोलेरो वाहन सीजी 13 सी- 6420 को जप्त किया गया है।प्लांट के दो हाईवा ड्रायवर वाहनों से करते थे डीजल की चोरी

प्रकरण में धारा 34 IPC जोड़ी जाकर तीनों आरोपी 1- पंकज पासवान पिता लखन पासवान उम्र 27 साल ग्राम खेडिया थाना व जिला औरंगाबाद, बिहार हाल मुकाम इंदिराविहार किराये का मकान गेरवानी 2- गोपाल प्रसाद भट्ठ पिता स्व. गौतम दास भट्ठ उम्र 29 साल इंदिराविहार किराये का मकान गेरवानी 3- भरत किसान पिता तेजराम किसान उम्र 34 साल निवासी सराईपाली थाना पूंजीपथरा को आज ही गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा गया है ।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button