भीड़ की हिंसा में पुलिसकर्मी सहित दो की मौत, एक जवान घायल

घटना के बाद मौक़े पर भारी पुलिस बल तैनात

बुलंदशहर:

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर ज़िले में सोमवार सुबह एक घटना में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत हो गई है. जबकि एक अन्य गंभीर रूप से घायल है. पुलिस ने एक स्थानीय युवक की मौत की भी पुष्टि की है.

प्रदर्शनकारियों के उग्र होने पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया जिसकी प्रतिक्रिया में भीड़ की ओर से पुलिस पर हमला कर दिया गया. पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार इसमें घायल हो गए जिनकी बाद में अस्पताल में मौत हो गई.

ज़िलाधिकारी अनुज झा ने बताया, “सोमवार सुबह 11 बजे पुलिस को चिंगरावटी गांव में गोक़शी की सूचना मिली थी. पुलिस और एक्ज़ीक्यूटिव मजिस्ट्रेट ने तुरंत मौके पर पहुंचकर कार्रवाई शुरू कर दी थी. इसी दौरान आसपास के लोगों ने सड़क जाम करने की कोशिश की थी.”

“पुलिस ने एफ़आईआर दर्ज करके कार्रवाई शुरू कर दी थी लेकिन इसी दौरान कुछ लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया. इस हमले में स्याना थाने के एसएचओ सुबोध कुमार की मौत हो गई.”

बुलंदशहर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कृष्ण बहादुर सिंह के मुताबिक, “भारी पुलिस बल मौक़े पर मौजूद है और स्थिति पर नज़र रखी जा रही है. असामाजिक तत्वों की पहचान की जा रही है और किसी भी व्यक्ति को क़ानून व्यवस्था से ख़िलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा.”

एक और पुलिसकर्मी घायल

राम सिंह के मुताबिक़, इस हिंसा में एक अन्य पुलिसकर्मी घायल हुआ है जिसकी हालत स्थिर है.पुलिस और हिंदूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प में दो प्रदर्शनकारी भी घायल हुए हैं.

ये घटना बुलंदशहर ज़िले के थानाक्षेत्र स्याना की चिंगरावटी पुलिस चौकी पर हुई. सुमित शर्मा के मुताबिक़ हिंदूवादी संगठनों ने इलाक़े में गोवंश के अवशेष मिलने का आरोप लगाते हुए महाव गांव में सड़क जाम कर दी थी.

Back to top button