गणित के दो प्रश्नपत्र मिलेंगे, चुनो अपनी पसंद से कठिन या सरल

विकल्प तललवार

बिलासपुर।

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन यानी सीबीएसई की 10वीं कक्षा की परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों को इस साल गणित के दो प्रश्नपत्र में से एक चुनने का मौका मिलेगा। परीक्षा फार्म भरने के दौरान ही इससे चुनना होगा। प्राचार्यों का कहना है कि बोर्ड ने इसके लिए सुझाव मांगा था। वहीं दोनों में पाठ्यक्रम एक ही रहेगा।शहर में सीबीएसई के 20 से अधिक स्कूल हैं।

कक्षा 10वीं में पढ़ने वाले छात्र.छात्राएं स्टैंडर्ड लेवल या मौजूदा लेवल के मैथ्स के प्रश्न.पत्र का विकल्प चुन सकते हैं। जो छात्र उच्च शिक्षा में गणित को पढ़ने के इच्छुक नहीं हैंए वे सरल प्रश्न पत्र का उत्तर दे सकते हैं। मार्च 2019 से ही पायलट परियोजना के रूप में इसे शुरू किया जाएगा।

इसकी सफलता के आधार पर कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा में भी इसे बढ़ाया जा सकता है। इसके लिए बोर्ड ने 15 सदस्यीय समिति बनाई है, जिसमें गणित के विशेषज्ञए विश्वविद्यालयों, स्कूलों और एनसीईआरटी के विशेषज्ञ होंगे।

बोर्ड ने कक्षा 10वीं में दो प्रश्नपत्र स्किम पर विचार कर रहा है। कमेटी भी गठित कर दी है। स्टूडेंट को काफी आसानी होगी। पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर मार्च 2019 में विकल्प मिलेगा। सबकुछ ठीक रहा तो 12वीं में अगले साल से लागू होगा।

Back to top button