दो बदमाश कर रहे थे महिला से जबर्दस्ती, भैंस ने यूं बचाई अस्मत, मामला सुन दांतों तले दबा लेंगे अंगुलियां

बेंगलूरू. आप किसी बहुत बड़ी मुसीबत में फंसे हों। बचने का कोई रास्ता सूझ ही न रहा हो। ऐसे में अगर कोई भी मदद के लिए अचानक आ जाए तो वह फरिश्ते से कम नहीं होता। ऐसा ही एक मामला कर्नाटक की राजधानी बेंगलूरू में सामने आया। दरअसल, यहां दो बदमाशों ने पता पूछने के बहाने एक महिला को बंधक बना लिया और उसके साथ अभद्रता करने लगे। महिला को बचने का कोई रास्ता नहीं दिखा तो वह शोर मचाने लगी। ऐसे में एक भैंस फरिश्ता बनकर वहां पहुंची और उसने दोनों बदमाशों को भगा दिया। इस मामले की जानकारी जिसे भी मिली, उसने दांतों तले अंगुलियां दबा लीं।

यह है पूरा मामला
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बेंगलूरु के हावेरी जिले की सवाणूर तहसील में एक गांव हीरेमराहल्ली है। यहां 30 वर्षीय महिला चरवाहा रहती है। वह रोजाना अन्य ग्रामीणों के पालतू जानवरों को चराने के लिए ले जाती है। एक दिन जब वह नीलगिरी की झाड़ियों में भैंसें चरा रही थी, उस दौरान बसवराज (34) और परशुराम (32) नाम के दो युवक उससे पता पूछने लगे। बताया जा रहा है कि दोनों आरोपी युवक बहाने से महिला को जबरन एक मंदिर के पीछे ले गए और दुष्कर्म का प्रयास करने लगे।

भैंस ने ऐसे बचाई अस्मत
जानकारी के मुताबिक, महिला ने खुद को बचाने के लिए शोर मचाया, लेकिन मदद के लिए कोई भी नहीं आया। अचानक एक भैंस वहां पहुंची और उसने अपने नुकीले सींगों से दोनों आरोपियों पर हमला कर दिया। यह देखकर दोनों आरोपी डर गए। उन्होंने महिला को छोड़ दिया और मौके से भाग खड़े हुए। इसके बाद पीड़िता ने मामले की शिकायत ग्रामीणों से की, जिसके बाद सवणूर थाना पुलिस ने केस दर्ज कर लिया। पुलिस ने दोनों आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button