छत्तीसगढ़

राज्य पुलिस सेवा के दो अफसरों ने विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए दिए इस्तीफा

रायपुर।

राज्य पुलिस सेवा के दो अफसरों ने विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए अपनी नौकरी से इस्तीफा दे दिया है। डीएसपी विभोर सिंह और इंस्पेक्टर गिरिजा शंकर जोहर ने डीजी एएन उपाध्याय को अपना इस्तीफा सौंपा है। विभोर सिंह कोटा और जोहर मस्तूरी सुरक्षित सीट से कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ना चाहते हैं।

विभोर सिंह ने कोटा ब्लॉक कांग्रेस के पास टिकट के लिए आवेदन भी दे दिया है। चर्चा है कि आने वाले दिनों में कुछ और अफसर चुनावी मैदान में कूद सकते हैं।

डीएसपी विभोर सिंह और टीआई गिरिजा शंकर जोहर ने कांग्रेस से दावेदारी ठोंक दी है। विभोर सिंह 1993 में बिलासपुर विवि में एनएसयूआई के उपाध्यक्ष के रूप में छात्र राजनीति कर चुके हैं।

वे कांग्रेस के बड़े नेता के करीबी भी माने जाते हैं। पुलिस सेवा में उनकी अच्छे अफसरों में गिनती की जाती है। नक्सल क्षेत्रों में बेहतर काम के लिए उन्हें आउट आॅफ टर्न प्रमोशन भी मिल चुका है। 2003 में उन्हें नक्सलियों की गोली लगी थी। इससे रीढ़ में चोट आई थी। उनका इस्तीफा अभी स्वीकार नहीं हुआ है। इसे मंत्रालय भेजा जाएगा।

इसी तरह 1996 में छात्र राजनीति में सक्रिय रहे इंस्पेक्टर जोहर एससी बहुल मस्तूरी से दावेदारी की है। उनके परिवार की मस्तूरी में बड़ी पकड़ रही है। इनके अलावा पूर्व आईपीएस आरसी पटेल रायगढ़ से और शिशुपाल सोरी कांकेर से दावेदारी कर रहे हैं। दो सेवारत डीआईजी के नाम भी कांग्रेस के दावेदारों में लिया रहा है।

वहीं जोगी कांग्रेस ने पूर्व आईएएस एमएस पैकरा को पत्थलगांव से प्रत्याशी घोषित कर दिया है। कवि पद्मश्री डॉ. सुरेंद्र दुबे का नाम बेमेतरा से भाजपा उम्मीदवार के रूप में लिया जा रहा है। वे पिछले कुछ महीनों से भाजपा के मंचों पर भी नजर आने लगे हैं।

Tags
Back to top button