दुष्कर्म के आरोपी समेत दो कैदियों ने किया भागने का प्रयास, सुरक्षा व्यवस्था पर खड़े हुए सवाल

कालीबाड़ी मोहल्ला के लोगों और सुरक्षाकर्मियों की सजगता के चलते दोनों 45 मिनट के अंदर दोबारा पकड़ लिए गए

मुजफ्फरपुर:अमर शहीद खुदीराम बोस केंद्रीय कारा से रविवार की शाम दो बंदी जेल की दीवार फांदकर भाग निकले. स्थानीय कुछ लोगों की सजगता से जेल प्रशासन के साथ कई थाने की पुलिस ने इलाके में नाकेबंदी कर दी. करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद दोनों बंदियों को पकड़ लिया गया.

कालीबाड़ी मोहल्ला के लोगों और सुरक्षाकर्मियों की सजगता के चलते दोनों 45 मिनट के अंदर दोबारा पकड़ लिए गए. दोनों को जेल ले जाया गया और पूछताछ की जा रही है. एक कैदी की पहचान कांटी के झुम्मन मियां उर्फ कनकटवा के रूप में हुई है. वह चोरी के समान के साथ पकड़ा गया था.

वहीं, दूसरे बंदी की पहचान करजा के रकशा दक्षिण टोला निवासी अभिषेक कुमार के रूप में हुई है. वह दुष्कर्म के केस में जेल में बंद है. इस मामले के सामने आते ही सेंट्रल जेल की सुरक्षा व्यवस्था पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं.

दोनों कैदी बारी-बारी से दीवार पर चढ़े फिर भी वॉच टावर पर तैनात जवानों को इसकी भनक नहीं लगी. घटना की सूचना मिलने के बाद एसडीओ पूर्वी डॉ. कुंदन कुमार और नगर डीएसपी राम नरेश पासवान, मिठनपुरा थानेदार भागीरथ प्रसाद के साथ सेंट्रल जेल पहुंचे और मामले की छानबीन की.

कैदियों की गिनती की जा रही थी तभी…

रिपोर्ट के मुताबिक, शाम करीब सवा छह बजे सुरक्षाकर्मियों की ड्यूटी चेंज की गई थी. जेल में कैदियों की गिनती का काम जारी था. इसी दौरान दो कैदी गमछा को जोड़कर फंदा के सहारे जेल की दीवार से उतर गए. वे छोटी दीवार फांदना चाह ही रहे थे कि सुरक्षाकर्मियों ने शोर मचाना शुरू कर दिया. यह देख दोनों झाड़ी में छुप गए. वहां से उनको पकड़ लिया गया.

‘खाना लेने के बहाने दीवार के पास गए’

जेल अधीक्षक राजीव कुमार सिंह ने बताया कि दो बंदियों ने पलायन का प्रयास किया था. दोनों को जेल परिसर के अंदर ही दोबारा पकड़ लिया गया है. प्राथमिकी की कार्रवाई जारी है. पुलिस की जांच में यह बात सामने आई है कि दोनों खाना लेने के बहाने दीवार के पास गए थे. सुरक्षाकर्मियों की ड्यूटी चेंज होने के कारण नए अपने-अपने पोस्ट पर जा ही रहे थे कि दोनों मौके का फायदा उठाकर भागने की कोशिश में लग गए, लेकिन सफल नहीं हुए.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button