रक्षाबंधन के दिन सर्पदंश से दो सगी बहनों की मौत

अंबिकापुर । रक्षाबंधन के दिन जहां बहनें अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधने उत्साह से निकल रही थी वहीं लटोरी गांव के हरिपुर में सर्पदंश से दो बहनों की मौत हो गई और एक साथ दोनों की अर्थी निकली तो पूरा गांव शोक में डूब गया। दोनों बहनें माता-पिता व दादी के साथ जमीन पर सो रही थी। देर रात दो बजे उन्हें जहरीले सांप ने डंस लिया। स्वजन इन्हें राजमाता देवेंद्र कुमारी सिंहदेव शासकीय चिकित्सालय अंबिकापुर लेकर पहुंचे, यहां दोनों बच्चियों को चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया।

जानकारी के मुताबिक हरिपुर लटोरी निवासी उर्मिला अगरिया का विवाह दस वर्ष पूर्व पोतका के देवशरण से हुआ था। दोनों की एक पुत्री थी। पति की मौत के बाद उर्मिला ने दूसरा विवाह हरिपुर लटोरी के रामसाय अगरिया से किया था, जिससे एक पुत्री भारती का जन्म हुआ, जो सात वर्ष की थी। पहले पति की संतान ज्योति 15 दिन अपनी मां के पास हरिपुर में और 15 दिन पोतका में अपने स्वर्गीय पिता के यहां रहती थी। हाल में वह मां के पास हरिपुर में रह रही थी। 21 अगस्त की रात भारती (सात) अपने पिता रामसाय अगरिया, मां उर्मिला अगरिया, बहन ज्योति (15) व दादी के साथ जमीन पर बिस्तर लगाकर सोई थी। रात दो बजे जहरीले सांप ने दोनों बहनों को डंस लिया। बच्चों के रोने की आवाज सुनकर स्वजन उठे तो उन्होंने कुछ काटने की जानकारी दी। स्वजनों ने बिस्तर के पास से जाते जहरीले सांप को देखा। आनन-फानन में दोनों बच्चियों को लेकर वे राजमाता देवेंद्र कुमारी सिंहदेव शासकीय चिकित्सालय अंबिकापुर पहुंचे, यहां जांच के बाद चिकित्सक ने दोनों बच्चियों को मृत घोषित कर दिया। इसकी जानकारी पुलिस सहायता केंद्र में अस्पताल प्रबंधन ने दी थी। पुलिस ने दोनों बच्चियों के शव का पंचनामा पोस्टमार्टम कराया है। पुलिस ने मामले में मर्ग कायम किया है। दो बहनों की मौत से शोक का माहौल है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button