मुर्शिदाबाद में तृणमूल कांग्रेस के दो गुटों की भिड़ंत, 3 लोगों की मौत

टोलटोली फेरी घाट पर वर्चस्व को लेकर हुई लड़ाई

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में जालंगी पुलिस स्टेशन से नजदीक टोलटोली इलाके के पास टोलटोली फेरी घाट पर वर्चस्व को लेकर हुई तृणमूल कांग्रेस के दो गुटों की विवाद में 3 लोगों की मौत हो गई.

पुलिस ने घटनास्थल से शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. मृतकों की पहचान नंतु शेख, अभिषेक मंडल और पिंटू मंडल के तौर पर हुई है. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. मामले की जांच जारी है.

पिछले हफ्ते भी हुई थी ऐसी घटना

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक कार्यकर्ताओं का हिंसा में लिप्त होना कोई नई परंपरा नहीं है. 21 अक्टबूर को पश्चिम बंगाल में एक टीएमसी कार्यकर्ता की कथित तौर पर जय श्री राम बोलने पर पिटाई कर दी गई.

समाचार एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक, जय श्री राम कहने पर पार्टी कार्यकर्ता घायल रणजीत मंडल की उसके साथियों ने ही पिटाई कर दी. घटना उत्तर 24 परगना जिले के बशीरहाट इलाके की है.

घायल रणजीत मंडल सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस का कार्यकर्ता था. आरोपी भी तृणमूल कांग्रेस का ही कार्यकर्ता तारक परोई बताया जाता है. पीड़ित की ओर से पुलिस को दी गई तहरीर के अनुसार वह पार्टी के कार्यकर्ताओं से बात कर रहा था. इसी बीच उसने जय श्री राम कह दिया. इसी पर तारक ने उसे गालियां देनी शुरू कर दीं और बाद में उसकी पिटाई कर दी.

उसे उपचार के लिए नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने अस्पताल से छुट्टी दे दी. पीड़ित रणजीत मंडल की तहरीर पर हरवा थाने की पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है. हालांकि इस मामले में आरोपी की गिरफ्तारी अभी नहीं हुई है.

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के समय से ही जय श्री राम के नारे पर घमासान मचा हुआ है. अभी तक यह संघर्ष तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के बीच था. इन दोनों दलों के कार्यकर्ताओं के बीच संघर्ष की खबरें आती थीं, लेकिन यह पहला अवसर है जब जय श्री राम पर तृणमूल कांग्रेस के ही कार्यकर्ता भिड़ गए हों.

Back to top button