शिक्षाकर्मियों में दो फाड़, अब सहायक शिक्षकों ने रखी ये मांग

बड़े शिक्षाकर्मी नेताओ पर कसा तंज ,सड़क पर उतरकर प्रदर्शन

रायपुर :शिक्षाकर्मियों के संविलियन की मांग पर सरकार की मुहर तो लग गई है ,लेकिन इसके बीच शिक्षाकर्मियों के एक धड़े ने खुद को उपेक्षा का शिकार बताया है .

एक सूत्रीय मांग को लेकर शिक्षाकर्मी वर्ग-3 के शिक्षाकर्मियों ने सड़क पर उतरकार प्रदर्शन किया.सहायक शिक्षक पंचायत के वेतन विसंगति में सुधार कर क्रमोन्नत वेतनमान के साथ संविलियन की मांग को लेकर प्रदेशभर के वर्ग -3 शिक्षाकर्मियों ने राजधानी में एकदिवसीय धरना प्रदर्शन कर हुंकार भरी .

पंचायत एवं नगर निगम सहायक शिक्षक संघ ने अल्टीमेटम दिया है कि यदि शिक्षाकर्मी वर्ग-3 की मांग को शीघ्र पूरा नहीं किया गया तो ,10 जुलाई को प्रदेशभर के 1 लाख से अधिक शिक्षाकर्मी जनआंदोलन चलाकर विरोध दर्ज कराएंगे.

संघ के प्रांताध्यक्ष भूपेंद्र सिंह बनाफर ने तो प्रदेश के एक बड़े शिक्षाकर्मी संगठन पर भी इशारों में आरोप लगाया .उन्होंने कहा कि शिक्षाकर्मी वर्ग -3 को आम जनता का समर्थन मिल रहा है .

संघ को किसी बड़े शिक्षाकर्मी संगठन के समर्थन की आवश्यकता नहीं है .सहायक शिक्षक अपनी लड़ाई खुद लड़ेंगे .उन्होंने कहा कि कैबिनेट की बैठक में सहायक शिक्षक पंचायत के वेतन विसंगति एवं क्रमोन्नति के विषय में सरकार द्वारा कोई सकारात्मक निर्णय नहीं लिया गया है ,जिससे वर्ग-3 के शिक्षाकर्मी खुद को छला महसूस कर रहे हैं .

सहायक शिक्षक पंचायत का वेतनमान सुधार कर सभी का संविलियन किया जाए एवं समय सीमा बंधन को पूरी तरह समाप्त किया जाए.

Back to top button