कैब में उबर ड्राइवर ने की महिला इंजीनियर से छेड़छाड़ ,पुलिस ने किया अरेस्ट

टेक्नोपार्क आईटी कर्मचारियों के एक सामाजिक-सांस्कृतिक संगठन की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर 32 वर्षीय चालक को गिरफ्तार किया गया है.आरोपी चालक के खिलाफ केरल पुलिस अधिनियम की धारा 119ए के तहत यात्री के साथ दुर्व्यवहार करने और सार्वजनिक रूप से आपत्तिजनक इशारे करने या महिला के सम्मान को ठेस पहुंचाने वाला कृत्य करने के आरोप में मामला दर्ज हुआ है. महिला के साथ यह वारदात 13 जून की रात में एक्कुलम में हुई थी.केरल के तिरूवनंतपुरम के टेक्नोपार्क इलाके में कार्यरत महिला आईटी पेशेवर के साथ दुर्व्यवहार करने वाले उबर टैक्सी चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है.
बताया जा रहा है कि उस वक्त महिला अपने काम से वापस लौट रही थी. टेक्नोपार्क-3 में कार्यरत महिला कर्मचारी ने शाम साढ़े सात बजे उबर ऐप के जरिए से जगती के लिए टैक्सी बुक की थी. चालक ने पहले महिला से मित्रता करने का प्रयास किया, लेकिन जब कार एक्कुलम पहुंचने वाली थी, तो उसने घुटने से नीचे महिला की टांग पकड़ ली.

शिकायत के मुताबिक, महिला चिल्लाई और कार रोकने को कहा. चालक माफी मांगने लगा. इसके बाद वहां से चला गया. महिला ने इसकी शिकायत उबर से की, लेकिन उन्होंने मेल से सिर्फ एक माफीनामा भेजकर कहा कि दोबारा ऐसा नहीं होगा. इसके बाद संगठन के जरिए इस मामले को उठाया गया, क्योंकि पीड़िता पहचान जाहिर नहीं करना चाहती.

बताते चलें कि 6 दिसंबर, 2014 को दिल्ली में एक उबर कैब चालक ने महिला यात्री के साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया था. इसके बाद ही उबर पर इस तरह के आरोप लगने शुरू हो गए. इस मामले में पीड़िता की पहचना उजागर करने के आरोप में कंपनी ने अपने एशिया पैसिफिक हेड एरिक एलेक्जेंडर को कंपनी ने बाहर का रास्ता दिखा दिया.

Back to top button