उद्धव ठाकरे पहली बार पहुंचे अयोध्या, राम नगरी किले में तब्दील

-शिवसैनिकों का जमावड़ा लगा

अयोध्या। लोकसभा चुनाव के मद्दनेजर रविवार को होने वाले धर्म संसद से अयोध्या (Ayodhya Ram Mandir) में माहौल फिर से गरमाता नजर आ रहा है. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए विश्व हिंदू परिषद की कल होने वाली धर्मसभा यानी धर्म संसद (Dharma Sansad) लिए बड़ी संख्या में कार्यकर्ता अयोध्या पहुंच रहे हैं. साथ ही शिवसेना के कई कार्यकर्ता रैली के लिए अयोध्या पहुंचने लगे हैं. महाराष्ट्र के विभिन्न इलाकों से शिवसैनिक ट्रेनों से अयोध्या पहुंच रहे हैं.

खास बात है कि अयोध्या में रैली के लिए खुद शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे आ रहे हैं. उद्धव ठाकरे शिवाजी के जन्मस्थान की मिट्टी लेकर आज दोपहर में अयोध्या पहुंचें. उद्धव से पहले बड़ी संख्या में शिव सैनिक भी अयोध्या में जुट चुके हैं. उद्धव अयोध्या में पुजारियों और साधु-संतों के साथ बैठक और रामलला के दर्शन भी करेंगे.

बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं की उपस्थिति को देखते हुए भारी तादाद में सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. इससे अयोध्या का माहौल गरमा गया है. वीएचपी की धर्मसभा में दो लाख लोगों के पहुंचने का अनुमान है. हालांकि, अयोध्या के कलेक्टर ने कहा है कि शहर में डर का कोई माहौल नहीं है. उन्होंने कहा कि शिव सेना और VHP ने अपने कार्यक्रमों के लिए पहले से इजाज़त ली है.

राम मंदिर के मुद्दे पर अयोध्या में वीएचपी और शिवसेना के अलग-अलग कार्यक्रम पर कहा कि एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) आनंद कुमार ने यूपी सरकार और जिला प्रशासन ने सुरक्षा इंतजाम कर लिए हैं. हमारा मकसद है कि कार्यक्रम शांती से हो और सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देशों को यथावत रखा जाए और उससे कोई छेड़छाड़ न हो.

विश्व हिंदू परिषद यानी VHP के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि पिछले साढ़े चार साल में राम मंदिर नहीं बना, इसलिए ही आंदोलन कर रहे हैं. रविवार को सभी 543 लोकसभा में कार्यक्रम हैं, मगर अयोध्या में सबसे बड़ा है. राहुल अगर खुल कर कह दें कि वो राम मंदिर बनवाएंगे तो हम उनका समर्थन करेंगे. हम बीजेपी की कोई मदद नहीं कर रहे. हम कोई माहौल नहीं बना रहे हैं.

उद्धव ठाकरे पहली बार अयोध्या पहुंच चुके है. ठाकरे अपनी पत्नी रश्मि, बेटा आदित्य के साथ आए हैं. उद्धव ठाकरे सरयू नदी के तट पर शाम में आरती और पूजा याचना करेंगे. बताया जा रहा है कि करीब 3000 शिवसैनिक अयोध्या ट्रेन से आए हैं और कुछ आ रहे हैं.

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण पर योग गुरु रामदेव ने कहा कि लोगों का धैर्य जवाब दे चुका है. राम मंदिर के लिए कानून लाओ या फिर लोग इसे खुद बनाना शुरू कर देंगे. अगर लोग ऐसा करते हैं, तो सांप्रदायिक सद्भावना खराब हो सकती है. मेरा मानना है कि देश में राम का कोई विरोध नहीं है, सभी हिंदू, मुस्लिम और ईसाई उनके वंशज हैं.

1
Back to top button