उज्ज्वला के हितग्राहियों को रिफिलिंग की सुविधा देने गाँवों में लगाए जाएंगे नियमित कैंप

उज्ज्वला योजना के हितग्राहियों को रिफिलिंग कराने सुविधा देने गाँवों में नियमित रूप से कैंप किए जाएंगे। यह निर्देश कलेक्टर श्री भीम सिंह ने मोहला विकासखंड के कंदाड़ी ग्राम में आयोजित जनसमस्या निवारण शिविर में दिए

उज्ज्वला के हितग्राहियों को रिफिलिंग की सुविधा देने गाँवों में लगाए जाएंगे नियमित कैंप

कलेक्टर ने जनसमस्या निवारण शिविर में दिए निर्देश

राजनांदगांव : उज्ज्वला योजना के हितग्राहियों को रिफिलिंग कराने सुविधा देने गाँवों में नियमित रूप से कैंप किए जाएंगे। यह निर्देश कलेक्टर श्री भीम सिंह ने मोहला विकासखंड के कंदाड़ी ग्राम में आयोजित जनसमस्या निवारण शिविर में दिए।

शिविर के दौरान उज्ज्वला योजना की समीक्षा करते हुए यह बात सामने आई कि लोगों को मोहला तक रिफिलिंग के लिए जाना पड़ रहा है। इस पर कलेक्टर ने कहा कि हर गाँव में अगर नियमित अंतराल में शिविर लगे तो लोगों की दिक्कत दूर होगी। कलेक्टर से शिविर में लोगों ने वनाधिकार पट्टा की माँग की।

इस पर वन विभाग के अधिकारियों ने कहा कि वर्ष 2005 के बाद बसे होने की वजह से ग्रामीणों का पट्टा नहीं बन पाया है। इस पर कलेक्टर ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि इसकी जाँच कराई जाएगी और पात्रता पाए जाने पर ग्रामीणों को पट्टा दिया जाएगा। कलेक्टर से ग्रामीणों ने पेयजल की शिकायत भी की।

उन्होंने बताया कि कंदाड़ी एवं निकटवर्ती गाँवों में पेयजल स्तर तेजी से गिर रहा है। कलेक्टर ने जहाँ पेयजल की अधिक दिक्कत आ रही है वहाँ बोर करने के निर्देश पीएचई विभाग के अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि सभी पंचायत भवनों में पीएचई विभाग के सब इंजीनियर का नंबर लिखें ताकि किसी भी तरह की पेयजल संबंधी परेशानी होने पर इनसे ग्रामीणजन संपर्क कर सकें, इसके अलावा भी जनपद पंचायत में जब भी सचिव आएँ तो अपने गाँव में पेयजल की वस्तुस्थिति के बारे में जानकारी दें।

इस मौके पर जिला पंचायत सीईओ ने एपीओ को निर्देशित करते हुए कहा कि मनरेगा में सभी गाँवों में बड़े काम खुलवाए जाएंगे जिसमें अधिकाधिक लोगों को रोजगार देने की कोशिश की जाएगी। उन्होंने कहा कि मनरेगा से संबंधित सारे भुगतान शीघ्रताशीघ्र कराए जाएंगे। सभी सचिवों को निर्देशित किया गया है कि मई महीने तक मनरेगा के लिए कार्य स्वीकृत कर रखें ताकि लोगों को लगातार रोजगार मिलता रहे। इस दौरान एसडीएम मोहला श्री प्रभात मलिक ने भी ग्रामीणों की समस्या सुनी एवं इनका निदान किया।

शिविर को संबोधित करते हुए जिला पंचायत सदस्य श्रीमती खगेश ठाकुर ने कहा कि पेयजल संबंधी, कृषि संबंधी तथा बुनियादी सुविधाओं से संबंधित परेशानी के लिए जनसमस्या निवारण शिविर उपयोगी होते हैं यहाँ एक ही मंच में सभी जिला स्तरीय अधिकारी उपलब्ध होते हैं। जनपद अध्यक्ष मोहला श्रीमती कलिन कुंवर राठिया ने कहा कि जनसमस्या निवारण शिविर के माध्यम से ग्रामीणों को शासकीय योजनाओं के संबंध में अधिकाधिक जागरूकता हासिल होती है। इससे वे शासकीय योजनाओं का लाभ उठाकर बेहतर आर्थिक बदलाव ला सकते हैं।

कलेक्टर श्री भीम सिंह ने कंदाड़ी हाईस्कूल में स्मार्ट क्लास का निरीक्षण भी किया। यहाँ उन्होंने बच्चों से पूछा कि स्मार्ट क्लास में पढऩे का अनुभव कैसा है। विद्यार्थियों ने बताया कि यह शानदार अनुभव है और हम स्मार्ट क्लास का इंतजार करते हैं। दृश्य और श्रृव्य माध्यम में चीजों को सीखना शानदार है

advt

Back to top button