ब्रिटेन में स्टूडेंट्स के लिए वर्क वीजा पाना पहले से होगा आसान

इमिग्रेशन से संबंधित नया नियम 11 जनवरी से लागू हो रहा

ब्रिटेन में स्टूडेंट्स के लिए वर्क वीजा पाना पहले से होगा आसान

ब्रिटेन में पढ़ रहे स्टूडेंट्स के लिए वर्क वीजा पाना पहले से ज्यादा आसान हो जाएगा। ब्रिटिश सरकार स्टूडेंट वीजा को वर्क वीजा में बदलने के लिए ज्यादा लचीला रुख अपनाने जा रही है। । इमिग्रेशन से संबंधित नया नियम 11 जनवरी से लागू हो रहा जिसके तहत विदेशी स्टूडेंट पढ़ाई के बाद टायर-4 वीजा से टायर-2 (स्किल्ड वर्कर वीजा) में स्विच कर पाएंगे।

मौजूदा नियमों के मुताबिक, उन्हें टायर-2 वीजा के लिए अपनी डिग्री पूरी होने का इंतजार करना होता है। इसके तहत उन्हें ब्रिटेन में जॉब ढूंढने के लिए पढ़ाई के बाद काफी कम समय मिलता है। जैसे कि अगर कोई स्टूडेंट पीजी कर रहा है तो उसे वीजा आवेदन के लिए डिग्री मिलने तक इंतजार करना होगा।

ईवाई-यूके की तरफ से जारी न्यूजलेटर में कहा गया है कि नए नियमों के अनुसार वे कुछ महीने और पहले टायर-2 वीजा के लिए आवेदन दे पाएंगे। लंदन के मेयर सादिक खान ने इस नई श्रेणी के वीजा का समर्थन किया है।

आव्रजन विशेषज्ञों के मुातिबक, यह बदलाव विश्वविद्यालयों और सरकार के बीच कई दौर की बातचीत का नतीजा है। स्टूडेंट वीजा टायर-4 के नाम से जाना जाता है जो कोर्स की अवधि के अतिरिक्त कुछ और महीने के लिए दिया जाता है ताकि स्टूडेंट ब्रिटेन में जॉब ढूंढ पाएं।

उदाहरण के लिए टायर-4 वीजा लंबी अवधि के पाठ्यक्रम (12 महीने से अधिक) के लिए मिलता है। यानी किसी को पाठ्यमक्रम के अलावा 4 महीने का अतिरिक्त वीजा दिया जाता है। अगर इस अवधि के भीतर अंतरराष्ट्रीय स्टूडेंट को जॉब नहीं मिलती तो उन्हें अपने देश लौटना होता है।

मौजूदा समय में टायर-4 वीजा धारक कई स्टूडेंट्स के लिए टायर-2 में स्विच करना आसान नहीं है क्योंकि या तो उनके पास डिग्री नहीं है या फिर उनका स्टूडेंट वीजा एक्सपायर हो रहा है।

advt
Back to top button