राष्ट्रीय

#metoo में नया मोड़, तनुश्री दत्ता ने नार्को और लाई डिटेक्टर टेस्ट करवाने की मांग की

मुंबई: तनुश्री दत्ता के वकील ने मुंबई के ओशिवारा पुलिस स्टेशन में नई शिकायत दर्ज करवाकर नाना पाटेकर, गणेश आचार्य, समी सिद्धीकी और राकेश सारंग का नार्को टेस्ट, ब्रेन मैपिंग और लाई डिटेक्टर टेस्ट करने की मांग की है. तनुश्री ने अपनी नई शिकायत में कहा कि जिन पर उन्होंने आरोप लगाया है वे बहुत रसूख वाले लोग हैं और नेताओं के साथ भी उनके संबंध हैं. इसलिए, वो केस की जांच प्रभावित कर सकते हैं.

बता दें, 10 अक्टूबर की रात को तनुश्री दत्ता द्वारा दर्ज बयान के आधार पर ओशिवारा पुलिस ने इन चारों के खिलाफ IPC की संबंधित धाराओं के तहत छेड़छाड़ और यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज किया है. पिछले हफ्ते, तनुश्री ने लिखित में चारों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके आधार पर आगे की कार्रवाई की गई है.

तनुश्री दत्ता का आरोप है कि 2008 में एक फिल्म की शूटिंग के दौरान नाना पाटेकर ने उन्हें बेवजह गलत तरीके से छुआ था. तनुश्री का कहना है कि मैंने फिल्म के डायरेक्टर और प्रोड्यूसर को साफ-साफ कह दिया था कि मैं फिल्म और गाने में कोई भी ऐसा सीन नहीं करूंगी, जिसमें मैं खुद को असहज महसूस करूंगी.

तनुश्री का कहना है कि मेरे मना करने के बावजूद फिल्म में ऐसे सीन जान बूझकर डाले गए और मुझे वह सीन करने के लिए मजबूर किया गया. इनका कहना है कि उस सीन में मेरा और नाना पाटेकर का क्लोज मोमेंट दिखाने की बात की जा रही थी. आखिरकार, मैंने वह फिल्म बीच में छोड़ दी जिसके बाद कुछ गुंडो ने मेरे कार पर हमला किया था.

तनुश्री दत्ता द्वारा मीटू कैंपेन की दोबारा शुरुआत करने के बाद मानो सभी के राज से पर्दे उठ गए हों. इसकी जद में कई नेता, अभिनेता, जर्नलिस्ट, लेखक आ चुके हैं. इसकी वजह से कई अभिनेताओं, निर्माताओं और निर्देशकों को फिल्म को बीच में छोड़ना पड़ा है. मीटू कैंपेन के सपोर्ट में बॉलीवुड के तमाम एक्टर हैं. कई एक्टर ने तो फिल्म को बीच में छोड़ दिया है, क्योंकि डायरेक्टर पर इसका आरोप लगा है.

jindal