राष्ट्रीय

अज्ञात लोगों ने कई अस्थायी मकानों को लगाई आग, हमला में कुछ लोग घायल

स्थिति की गंभीरता को देख प्रशासनिक अधिकारियों ने क्षेत्र में धारा 144 लागू कर दी

हैलाकांडी:रामनाथपुर थानांतर्गत कचूरथोल में मंगलवार रात हिंसा और आगजनी की घटना हुई. इस घटना में अज्ञात लोगों ने कई अस्थायी मकानों को आग लगा दी और हमला कर कुछ लोगों को घायल कर दिया। स्थिति की गंभीरता को देख प्रशासनिक अधिकारियों ने क्षेत्र में धारा 144 लागू कर दी है।

इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि स्थिति तनावपूर्ण, लेकिन नियंत्रण में है। क्षेत्र में सुरक्षा बढ़ा दी गई है और प्रशासन और पुलिस के अधिकारी डेरा डाले हुए हैं। स्थिति को और बिगड़ने से रोकने के लिए अतिरिक्त जिलाधिकारी आर के डाम ने धारा 144 के तहत तत्काल प्रभाव से निषेधाज्ञा लागू कर दी है।

इस बीच, क्षेत्र के विधायक सुजामुद्दीन लश्कर ने मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और पुलिस महानिदेशक भास्कर ज्योति महंत को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि पड़ोसी राज्य से सशस्त्र हमले के चलते सीमा पर रह रहे लोगों के मन में सुरक्षा की भावना भरने के लिए तत्काल कदम उठाए जाएं।

कातलीचेरा के विधायक ने दावा किया कि मंगलवार की रात पड़ोसी राज्य के शरारती तत्वों के हमले में लगभग 30 लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं और लगभग 50 मकान आगजनी में नष्ट हो गए हैं। इससे पहले, तीन फरवरी को मिजोरम की सीमा के नजदीक हैलाकांडी के मुलियाला में एक शक्तिशाली बम विस्फोट में एक स्कूल की इमारत नष्ट हो गई थी।

पिछले साल अक्टूबर-नवंबर में भी असम-मिजोरम सीमा पर तब कई दिन तक तनाव रहा था जब असम के कछार जिले और मिजोरम के कोलासिब जिले के लोगों के बीच संघर्ष में कई लोग घायल हो गए थे तथा कई कच्चे मकान जला दिए गए थे।

मिजोरम और असम के बीच 164.6 किलोमीटर लंबी सीमा है। सीमा विवाद को सुलझाने के लिए 1995 से कई दौर की वार्ता हो चुकी है, लेकिन इसका कोई ठोस परिणाम नहीं निकला है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button