केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 10 राज्यों में भेजी हाई लेवल मल्टी डिसिप्लिनरी टीम

ये हाई लेवल टीम तीन सदस्यों की होगी और इसमें केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी होंगे

नई दिल्ली:कोरोना वायरस महामारी के बढ़ाते प्रकोप के मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, पंजाब, कर्नाटक, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और जम्मू कश्मीर में हाई लेवल मल्टी डिसिप्लिनरी टीम भेजी हैं.

ये हाई लेवल टीम तीन सदस्यों की होगी और इसमें केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी होंगे. इस टीम को जॉइंट सेक्रेटरी लेवल के अधिकारी हेड करेंगे. ये टीम ना सिर्फ इन राज्यों में मामले क्यों बढ़ रहे हैं इसका पता लगाएगी. बल्कि राज्यों के अधिकारी और स्वास्थ्य अथॉरिटी के साथ कैसे मामले कम हों, इसपर भी काम करेगी.

कुछ जिलों में बढ़ रहा है पाजिटिविटी रेट

इसके अलावा राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को संबंधित जिला अधिकारियों के साथ उभरती हुई स्थिति की नियमित समीक्षा के लिए सलाह दी गई है. ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि कोविड प्रबंधन में अब तक किए गए काम को कोई नुकसान न पहुंचे.

केंद्र ने महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, पंजाब और जम्मू और कश्मीर को भी लिखा है कि राज्य में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं. खास कर कुछ जिलों में पाजिटिविटी रेट बढ़ रहा है, वहीं टेस्ट में भी कमी देखने को मिल रही है.

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने इन राज्यों को सलाह दी है कि कोरोना ट्रांसमिशन तोड़ने के लिए तेज़ी से काम करें. खासकर तब जब कोरोना के दो नए वैरिएंट मिले हैं. वहीं इन राज्यों को सलाह दी गई है कि वह केस बढ़ने से रोकने के लिए ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग कराएं. वहीं किसी लक्षण वाले मरीज का एंटीजन टेस्ट नेगेटिव भी आता है तो उसका RTPCR टेस्ट कराया जाए. इतना ही नहीं टेस्टिंग, ट्रेसिंग और ट्रीटमेंट पॉलिसी को सख्ती के साथ लागू किया जाए.

कई राज्यों को वैक्सीनेशन तेज करने की सलाह दी गई मंगलवार को ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने पंजाब, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और जम्मू कश्मीर समेत पांच राज्यों को चिट्ठी लिखकर उन जिलों में हैल्थ केयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स के वैक्सीनेशन तेज करने की सलाह दी है, जहां लगातार केस बढ़ रहे हैं. ऐसे में तेज़ी से इनका टीकाकरण करें, क्योंकि ये सभी इलाज, कन्टेनमेंट और सर्विलॉंस जैसे कामों में जुटे होते हैं और इनके संक्रमित होने का खतरा होता है.

पंजाब में एसबीएस नगर, कपूरथला और श्री मुक्तसर साहिब समेत तीन जिलों में, महाराष्ट्र में पुणे, नागपुर, मुंबई सबअर्बन, ठाणे, अमरावती और अकोला में, मध्य प्रदेश के तीन ज़िलों इंदौर, भोपाल और बैतूल में, वहीं छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव और जम्मू कश्मीर के पुलवामा में लगातार मामले बढ़ रहे हैं. इन राज्यों के स्वास्थ्य सचिवों को चिट्ठी लिखकर कहा गया कि जल्द हैल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण करवाएं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button