केन्द्रीय मंत्री ने राहुल गाँधी के आरोपित बयान की निंदा कर साधा निशाना

राहुल ने सोमवार को लगाया था आरोप

नई दिल्ली :

केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने मंगलवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर राफेल डील मामले में ‘‘चोर’’ संबंधी आरोपित बयान की निंदा कर साधा निशाना।

उन्होंने आश्चर्य जताया कि कांग्रेस प्रमुख का ‘‘व्यवहार’’ इतना ‘‘शर्मनाक’’ कैसे हो सकता है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) वायुसेना को मजबूत बनाने के लिए फ्रांस से लड़ाकू विमान खरीदने के लिए आगे बढ़ेगी।

यूपीए ने बीच में ही रोक दिया सौदा

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने दावा किया कि पिछले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार ने 2012 में समीक्षा के लिए बीच में ही राफेल सौदे को रोक दिया था क्योंकि वह राबर्ट वाड्रा के करीबी सहयोगी संजय भंडारी को ‘‘इसमें लाना’’ चाहती थी।

वाड्रा यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद है। जावडेकर ने कहा,‘‘हम भी अभद्र शब्दों को जानते हैं लेकिन राजनीति के लिए इनका इस्तेमाल करने का हमारा कोई इरादा नहीं हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री के खिलाफ बहुत ही अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया है। हमें उनके व्यवहार को क्या कहना चाहिए। शर्मनाक।’’

भाषा की निंदा की

उन्होंने कहा,‘‘राहुल गांधी द्वारा उपयोग की जाने वाली भाषा सभ्यता के किसी भी मानदंड का पालन नहीं करती है, इसलिए, हम इस तरह की भाषा के उपयोग की निंदा करते हैं।

कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितनी बार झूठ फैलाते हैं, यह कभी सच नहीं बन जाएगा।’’ राहुल ने सोमवार को आरोप लगाया था कि देश के ‘‘चौकीदार’’ नरेन्द्र मोदी ने गरीबों का पैसा छीनकर उद्योगपति अनिल अंबानी को सौंप दिया है।

जावडेकर ने कहा कि राफेल सौदे का केवल पाकिस्तान और कांग्रेस ने ही विरोध किया है। उन्होंने कहा,‘‘पाकिस्तान का सोचना है कि भारत यदि इन लड़ाकू विमानों को खरीदता है तो वह (भारत) और अधिक शक्तिशाली हो जायेगा तो वहीं कांग्रेस को डर है कि भाजपा की ताकत इससे बढ़ जायेगी और इसलिए वह सौदे की आलोचना कर रही है।’’

Back to top button