जैश को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के लिए आज यूनाइटेड नेशन की बैठक

यूएन में भारत का पक्ष रखने के लिए जेनेवा रवाना हो गए

नई दिल्ली: आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए 14 फरवरी को सीआरपीएफ काफिले पर आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली थी। इस आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे, वहीं, कई अन्य जवान घायल भी हुए थे।

इसके बाद भारत ने एलओसी पार कर बालाकोट में स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शिविरों को मिराज-2000 से ध्वस्त कर दिया था। इस हमले में भारतीय वायुसेना ने एक हजार किलो बम का इस्तेमाल कर तकरीबन 200-300 आतंकियों को ढेर किया था।

जिसके बाद इसी कड़ी में आतंकी मसूद अजहर के संगठन जैश-ए-मोहम्मद को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के लिए आज यूनाइटेड नेशन की बैठक होगी। इसको लेकर विदेश सचिव विजय गोखले मंगलवार को यूएन में भारत का पक्ष रखने के लिए जेनेवा रवाना हो गए हैं। बता दें कि पुलवामा हमले के बाद सभी ब्रिटेन, फ्रांस और रूस ने मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए यूएन में प्रस्ताव दिया है।

Back to top button