संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) में शामिल हो सकते है कुशवाहा -सूत्र

उनकी पार्टी और यूपीए घटक दलों के बीच बातचीत लगभग तय

नई दिल्ली:

आरएलएसपी ने हाल ही में बीजेपी से गठबंधन तोड़ लिया था. राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि उनकी पार्टी और यूपीए घटक दलों के बीच बातचीत लगभग तय हो गई है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा की आरएलएसपी बृहस्पतिवार को संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) में शामिल हो सकती है. सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी.

यूपीए में शामिल होने का ऐलान कुशवाहा गुरुवा को एक संवाददाता सम्मेलन में कर सकते हैं. राजद नेता तेजस्वी यादव, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेक्यूलर) संस्थापक जीतन राम मांझी और कांग्रेस के एक प्रतिनिधि घोषणा के दौरान मौजूद रह सकते हैं. विपक्षी नेता शरद यादव भी कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं.

वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने कुशवाहा के बीजेपी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन छोड़ने के बाद उनसे मुलाकात की थी. संप्रग का मानना है कि उससे हाथ मिलाने का कुशवाहा का फैसला उसे बिहार में राजग के खिलाफ माहौल बनाने में मदद करेगा.

बीजेपी के अलावा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जदयू और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान की लोजपा राजग के अन्य घटक दल हैं.

कुशवाहा ने साधा पीएम मोदी और नीतीश पर निशाना

इससे पहले रविवार (16 दिसबंर) उपेंद्र कुशवाहा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर प्रहार करते हुए रविवार को दावा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी केंद्र में और 2020 के विधानसभा चुनाव में नीतीश बिहार में सत्ता में फिर से नहीं आ पाएंगे.

पटना के श्रीकृष्ण मेमोरियल में एनसीपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष उदय सम्राट सहित अन्य के RLSPमें शामिल होने के अवसर पर अपने संबोधन में कुशवाहा ने भाजपा और जदयू के साथ आने को अपनी समझ से परे बताया था.

new jindal advt tree advt
Back to top button