एकता ने लिपस्टिक अंडर माई बुर्का के विवादित पोस्टर को लेकर दी सफाई

एकता कपूर वो विवादित फिल्म लिपस्टिक अंडर माई बुर्का को प्रेजेंट करने जा रही हैं और उन्होंने साफ़ कहा है कि फिल्म का पोस्टर किसी व्यक्ति विशेष के लिये नहीं है।मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि लिपस्टिक अंडर माई बुर्का के पोस्टर में जो मीडिल फिंगर दिखाया है, वह किसी व्यक्ति विशेष के लिए नहीं है और ना ही सेंसर बोर्ड की तरफ़ कोई इशारा है। यह उस सोसायटी के लिए है, जहां के लोग यह सोचते हैं कि औरतों को हर तरह से दबा कर रखा जा सकता है।
यह उन लोगों को भी करारा जवाब है, जो अपनी बहुओं का अबॉर्शन बेटे की चाहत में करते हैं। इस फिल्म की कहानी, अपनी बोल्डनेस के साथ बात रखती है।एकता ने आगे कहा है कि इस फिल्म को लोगों तक और अच्छे तरीके से पहुंचाने में वो कोई कसर नहीं छोड़ेंगी। एकता ने कहा कि भले ही उनके सीरियल्स की महिलाएं साड़ी पहनती हैं, लेकिन वो घर की डिसीज़न मेकर होती हैं। चाहे वह घर की भी डिसीजन मेकर होती हैं। फिर चाहे वह तुलसी हो या फिर पार्वती। एकता ने अपना मत इस बात पर भी जाहिर किया कि सैनिटरी नैपकिन का इस्तेमाल महिलाओं की जरूरत है, लग्जरी नहीं है, इसलिए इस पर लगने वाले जीएसटी को ख़त्म किया जाना चाहिए।
वो जल्द ही कुछ फिल्मों का निर्माण करने जा रही हैं, जिनमें लैला मजनूं जैसी भी एक फिल्म होगी। उन्हें अपनी पिछली फिल्म हाफ गर्लफ्रेंड की सफलता से ताकत मिली है और इसी कारण वो फिर से फिल्मों में सक्रिय हो रही हैं।

फिल्म और भी कई मुद्दों को डील करती है

इस मौके पर मौजूद रत्ना पाठक शाह ने कहा है कि सेक्स जैसा विषय लिपस्टिक अंडर माई बुर्का की कहानी का एक हिस्सा है लेकिन फिल्म और भी कई मुद्दों को डील करती है। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी माँ ने उन्हें हमेशा खुलकर बोलने की छूट दी है और वही काम वो अपनी बेटी के साथ भी करती हैं।

Back to top button