छत्तीसगढ़

मानव समाज में एकता आज की सबसे बड़ी जरूरत : रमन

मानव समाज में एकता आज की सबसे बड़ी जरूरत : रमन

रायपुर मानव समाज के बीच एकता आज की दुनिया की सबसे बड़ी जरूरत है। छत्तीसगढ़ के महान संत और समाज सुधारक गुरू बाबा घासीदास बहुत पहले ही दुनिया को यह संदेश दे चुके हैं। शुक्रवार को ये बातें मुख्यमंत्री डॉ. रमन ने कही।

मुख्यमंत्री डॉ. सिंह बेमेतरा जिले के नवागढ़ में राज्य स्तरीय पंथी नृत्य प्रतियोगिता के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। यह आयोजन गुरू घासीदास जयंती के उपलक्ष्य में किया गया। डॉ. सिंह ने समारोह में गुरू बाबा घासीदास की पूजा-अर्चना की और जैतखाम पर श्वेत ध्वज भी चढ़ाया। इसके अलावा उन्होंने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत कई महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन दिए। साथ ही विभिन्न योजनाओं के तहत हितग्राहियों को सामग्री आदि का भी वितरण किया।

उन्होंने कहा कि, गुरू बाबा घासीदास के बताए मार्ग पर चलकर छत्तीसगढ़ सरकार अंतिम पंक्ति के लोगों और अंतिम पंक्ति के गांवों तक विकास योजनाओं का लाभ पहुंचा रही है। उन्होंने समारोह में प्रधानमंत्री सहज बिजली योजना (सौभाग्य योजना) के तहत नवागढ़ क्षेत्र के लगभग 18 हजार घरों को बहुत जल्द बिजली का कनेक्शन देने की घोषणा की।

सूखे से बचने 650 करोड़ से ज्यादा की व्यवस्था : उन्होंने कहा कि, राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ के सूखा प्रभावित किसानों को राहत पहुंचाने के लिए इस वित्तीय वर्ष में 650 करोड़ रुपए से ज्यादा का प्रावधान किया है। नवागढ़ क्षेत्र के प्रभावित किसानों को भी इसका लाभ मिलेगा। उन्हें फसल क्षति का मुआवजा जल्द मिले इसके लिए बेमेतरा जिला प्रशासन को सर्वेक्षण कार्य तत्परता से पूर्ण करने के निर्देश दिए गए हैं। किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का भी फायदा मिलेगा। नवागढ़ क्षेत्र में खारे पानी की समस्या को हल करने के लिए समूह नल-जल योजना बहुत जल्द शुरू की जाएगी। गुरू बाबा घासीदास ने जहां देश और दुनिया को सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलने की शिक्षा दी, वहीं उन्होंने अपने समय के मानव समाज को क्रोध, मोह और लालच जैसे दुर्गुणों से दूर रहने की भी प्रेरणा दी थी। बाबा ने स्त्री- पुरुष समानता और समाज में शिक्षा के प्रसार पर भी जोर दिया था। आज देश और राज्य की तरक्की और खुशहाली के लिए हम सबकों उनके बताए मार्ग पर चलने की जरूरत है। उनके उपदेश सर्वसमाज के लिए है। बाबा के उपदेशों पर आधारित पंथी गीतों और पंथी नृत्यों में गजब का सम्मोहन है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि, नई दिल्ली में श्रीश्री रविशंकर की ओर से आयोजित एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के विशाल मंच पर छत्तीसगढ़ के पंथी नर्तकों के नृत्य प्रदर्शन को वहां मौजूद लाखों लोगों ने सम्मोहित होकर देखा। छत्तीसगढ़ सरकार ने गुरू बाबा घासीदास की जन्म स्थली और तपोभूमि गिरौदपुरी धाम को उनकी सम्पूर्ण गरिमा के अनुरूप विकसित किया है। उनके आदर्शों और उपदेशों पर चलकर सतनामी समाज शिक्षा सहित हर क्षेत्र में तेजी से तरक्की कर रहा है। राज्य के विकास में सतनामी समाज की भागीदारी भी बहुत महत्वपूर्ण है।

मुख्यमंत्री ने लोगों को राज्य शासन की ओर से गठित अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि नवागढ़ क्षेत्र में गांवों के विकास के लिए हर प्रकार के कार्य लिए गए हैं। प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना और कृषि सिंचाई योजना सहित कई योजनाओं का लाभ इस क्षेत्र के ग्रामीणों और किसानों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि नवागढ़ क्षेत्र में लगभग 18 हजार घरों को प्रधानमंत्री सहज बिजली योजना (सौभाग्य योजना) के तहत बिजली दी जाएगी। इनमें से गरीबी रेखा श्रेणी के परिवारों को बिजली का कनेक्शन नि:शुल्क मिलेगा, जबकि गरीबी रेखा से ऊपर अर्थात् ए.पी.एल. श्रेणी के परिवारों से सिर्फ 500 रुपए का शुल्क लिया जाएगा और यह राशि भी उन्हें सिर्फ 50 रुपए की मासिक किश्त में जमा करने की सुविधा मिलेगी।
मुख्यमंत्री ने पंथी नृत्य प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार वितरित कर शुभकामनाएं दी। समारोह में विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति और सहकारिता मंत्री दयालदास बघेल, खाद्य और नागरिक आपूर्ति एवं ग्रामोद्योग मंत्री पुन्नूलाल मोहले सहित अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

31 May 2020, 12:10 PM (GMT)

India Covid19 Cases Update

182,990 Total
5,188 Deaths
87,099 Recovered

Back to top button