छत्तीसगढ़

अज्ञात वाहन ने जिंदल रोड पर 6 गायों को कुचला,सोशल मीडिया पर फूटा गुस्सा

अज्ञात वाहन चालक के विरुद्ध FIR दर्ज

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

रायगढ़ 16 जून। विदित हो कि दिनांक 15 जून को तड़के वृंदावन चौक में 06 गायों को किसी अज्ञात वाहन चालक ने दर्दनाक रूप से कुचलकर मार डाला। सड़क पर 06 गायों के शव देखकर हर किसी का मन दु:ख से विचलित था। कल दिन भर इसी बात की चर्चा रही।

हमारे भारत में गाय को गौमाता कहा जाता है और उनकी पूजा की जाती है लेकिन शहर में इन बेजुबान जानवरों के लिए किसी प्रकार की कोई व्यवस्था ही नजर नहीं आती खुलेआम ये बेजुबान जानवर सड़कों पर, मैदानों पर भोजन की तलाश में घूमते रहते हैं और आए दिन इसी तरह कोई न कोई भारी वाहन इन्हें कुचल कर मौत के घाट उतार देता है।

अज्ञात वाहन ने जिंदल रोड पर 6 गायों को कुचला,सोशल मीडिया पर फूटा गुस्सा

शहर भीतर इनके देख रेख के लिए कोई कांजी हॉउस भी नहीं है। नगर निगम ने तो जैसे इस विषय में वर्षों से आंख मूंद लिया है। गायों के सड़क दुर्घटना में मौत का ये कोई पहला मामला नहीं है। इससे पूर्व भी रायगढ़ के ही सड़कों पर कई गायों को ट्रक चालकों ने रौंदते हुए उनकी जीवन लीला समाप्त कर दी है।

बेजुबानों की मौत के बाद प्रशासनिक अमला आता है और लाश को ठिकाने लगाकर औपचारिकता पूरी करती है और मामले को रफा दफा कर चली जाती है। ये कतई नहीं सोचा जाता की इन बेजुबान पशुओं की सुरक्षा किस प्रकार से की जाय ताकि इनकी सड़क हादसे में मौत न हो।

हृदय विदारक दृश्य देखकर शहर के सोशल मीडिया में यूजर्स ने निकाली अपनी भड़ास :

कल से लेकर अभी तक शहर में इन गायों की मौत को लेकर जिसने जाना उसने दु:ख व्यक्त किया है, तो किसी ने सोशल मीडिया में अपनी भड़ास निकालने के लिए पोस्ट किया है।

फेसबुक व ट्वीटर पोस्ट के माध्यम से किसी ने राज्य सरकार को आड़े हाथ लिया है, तो किसी ने गौठान की अव्यवस्था को इसका दोष दिया है, तो किसी ने अपराध दर्ज कर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की मांग की है।

इसी विषय से सबंधित हम आपको ऐसे कुछ लोगों के फेसबुक व ट्वीटर पोस्ट का स्क्रीन शॉट दिखाते हैं जिन्होंने इन बेजुबानों की मौत पर गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए अपनी भावनाओं को सोशल मीडिया में लिखा है।

अज्ञात वाहन ने जिंदल रोड पर 6 गायों को कुचला,सोशल मीडिया पर फूटा गुस्सा

एक ट्विटर यूजर्स द्वारा पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार को हैज टैग करते हुए घटने की जानकारी दी गयी :

प्रशासन को व्यवस्थित रूप से बनाना चाहिए कांजी/डॉग हॉउस :

गौरतलब है कि रायगढ़ शहर में हमेशा देखा जाता है आवारा पशुओं का जमावड़ा लगा रहता है। उनमें से कुत्ते गाय व बैल प्रमुखता से जगह-जगह विचरण करते हुए देखे जा सकते हैं। गायों के मालिकों को इनकी कोई फिक्र नहीं होती है इसलिए खुलेआम इन सभी पशुओं को शहर भीतर आवारा छोड़ दिया जाता है क्योंकि वे अब इनके लिए उपयोगी नहीं होते है।

ये बेजुबान पशु हर गली, हर सड़क पर विचरण करते हुए घूम-घूम कर भोजन की तलाश में ऐसे ही भटकते रहते हैं और एक दिन किसी ट्रक, डंपर या ट्रेलर के नीचे आकर अपनी जान दे देते हैं।

कुछ ऐसा ही हाल शहर के आवारा श्वानों का भी है जो हर गली, चौराहे व सड़क पर घूमते रहते हैं। कांजी हाऊस के साथ-साथ डॉग हाऊस की भी व्यवस्था शहर के आवारा पशुओं के लिए नगरीय प्रशासन को करनी चाहिए ताकि इन बेजुबानों की रक्षा हो सके और इस तरह इनकी मौत ना हो।

शहर में यदि कांजी हाउस या डॉग हॉउस है तो अभी तक अस्तित्व विहीन हैं क्योंकि अगर कांजी हाउस इन बेजुबानों को रखने की व्यवस्था होती तो इस तरीके सड़क पर गायों की दर्दनाक मौत नहीं होती। 06 गायों की सड़क पर पड़ी लाश की तस्वीर देखकर इंसान का कलेजा कांप जा रहा है तो सोचिये इन बेजुबानों के दर्द की हद क्या रही होगी जिस दर्द के कारण इनकी मौत हो गयी इस दर्द की कल्पना भी अकल्पनीय है।

अज्ञात वाहन चालक के विरुद्ध FIR दर्ज

बहरहाल रायगढ़ पुलिस अधीक्षक ने इन गायों की मौत को गंभीरता से लिया है और अज्ञात वाहन चालक के विरुद्ध FIR दर्ज की जा रही है। कहा है लेकिन जिस अज्ञात वाहन चालक ने इन बेजुबानों को अपनी गाड़ी के नीचे रौंदकर एक अमानवीय कृत्य को अंजाम दिया है क्या उसे पकड़कर कानूनन सजा दिला पाते हैं या नहीं।

ये भविष्य के गर्त में है, फिलहाल इन 06 गायों की मौत से शहर में प्रशासन को अब कुछ ऐसी बड़ी व्यवस्था करनी चाहिए ताकि आगे इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ती ना हो और इन बेजुबानों को कोई वाहन से कुचल कर मौत के घाट न उतार सके।

Tags
Back to top button