राष्ट्रीय

अनलॉक-1: आज खुलेंगे लॉकडाउन में बंद रहे देशभर के हजारों धार्मिक स्थल

रायपुर: लॉकडाउन में बंद रहे देशभर के हजारों धार्मिक स्थल आज से खुल गए है वही यूपी के गोरखपुर में सीएम योगी आदित्यनाथ ने आज सुबह आरती के साथ पूजा अराधना की. हालांकि महाराष्ट्र और झारखंड समेत कई अन्य राज्यों में अभी धार्मिक स्थलों के कपाट नहीं खुलेंगे.

उधर वैष्णो देवी की यात्रा भी अभी शुरू नहीं होगी. धर्मस्थलों के अलावा आज से होटल, सैलून, रेस्टोरेंट भी शर्तों के साथ खोलने की इजाजत दे दी गई है. आज से दिल्ली में मॉल और रेस्त्रां खोले जाएंगे.

अनलॉक होते सिस्टम के सामने कोरोना का बढ़ता ग्राफ कड़वी हकीकत है. सरकार के तमाम दावों के बीच हालात किसी से छुपे नहीं हैं. दिल्ली में कोरोना बम फट चुका है. अबतक राजधानी में 27 हजार से ज्यादा कोरोना के मामले पहचाने जा चुके हैं. दिल्ली में एक-एक कर सब कुछ खुल रहा है. 8 जून से रेस्तरां, मॉल और धार्मिक स्थान भी खोल दिए जाएंगे.

नहीं खुलेगा श्री माता वैष्णो देवी मंदिर

श्री माता वैष्णो देवी यात्रा अभी बंद रहेगी. 8 जून से वैष्णो देवी मंदिर के द्वार नहीं खुलेंगे. हालांकि पहले श्राइन बोर्ड की तरफ से मंदिर खोलने की तैयारियां की गई थी, लेकिन जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने अभी राज्य में सभी मंदिरों को बंद कर दिया है. इसी क्रम में फिलहाल श्री वैष्णो देवी मंदिर भी 8 जून को बंद ही रहेगा.

9 जून से खुलेगा पंचकुला का मनसा देवी मंदिर

वहीं, हरियाणा के पंचकुला का प्रसिद्ध माता मनसा देवी मंदिर 8 जून से नहीं खुलेगा. मंदिर में कुछ इंतजाम का हवाला देते हुए बोर्ड ने 9 जून से मंदिर खोलने का फैसला किया है. मंदिर में प्रसाद और भंडारा लगाने पर पाबंदी रहेगी.

सुबह 6:00 बजे से रात 8:15 बजे तक मंदिर में दर्शन हो सकेंगे. श्राइन बोर्ड की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करने के बाद ई टोकन मिलने मिलेगा और इसके बाद ही दर्शन होंगे. 65 साल से ज्यादा उम्र के बुजुर्गों और 10 साल से कम उम्र के बच्चों और साथ ही गर्भवती महिलाओं को मंदिर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं होगी.

30 जून तक बंद रहेंगे मथुरा के मंदिर?

उत्तर प्रदेश के मथुरा जिला प्रशासन ने साफ कह दिया है कि 8 जून से मंदिर खोलने को लेकर किसी मंदिर पर दबाव नहीं डाला जाएगा. जिले के ज्यादातर मंदिरों के सेवायतों और गोस्वामियों ने भारी भीड़ की आशंका के मद्देनजर 30 जून तक सभी मंदिर बंद रखने की ही गुहार लगाई है. प्रशासन भी इस फैसले से सहमत है.

भोपाल में नहीं खुलेगा कोई मंदिर

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मंदिर खोलने के मामले में कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने धर्मगुरुओं से चर्चा की थी. धर्मगुरुओं ने कहा कि अभी मंदिर खोलने के लिए उनकी तैयारी पूरी नहीं है. धर्मगुरुओं से बातचीत के बाद भोपाल प्रशासन ने फिलहाल मंदिर नहीं खोलने का फैसला लिया है. एक हफ्ते बाद भोपाल के सभी धार्मिक स्थल खोले जा सकते हैं.

गोवा में नहीं खुलेंगे मंदिर

गोवा प्रशासन ने भी अभी मंदिरों को बंद रखने का फैसला किया है. कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रशासन अभी मंदिर नहीं खोलना चाहता है. मरडोल में 9 प्रमुख मंदिर कमेटी के अध्यक्षों की मुलाकात हुई थी. इस मीटिंग में 8 जून से मंदिर नहीं खोलने का फैसला किया गया था.

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सोमनाथ मंदिर में होंगे दर्शन

गुजरात का सोमनाथ मंदिर 8 जून से खुल रहा है. सोमनाथ मंदिर में भक्तों को सोशल डिस्टेंसिंग अपनाते हुए दर्शन करने होंगे. लाइन में मंदिर के बाहर से अंदर जाने के लिए गोले बनाए गए हैं, मंदिर में प्रवेश से पूर्व श्रद्धालुओं को इन्हीं गोलों में दर्शन के लिए खड़ा रहना होगा. मंदिर के अंदर जाने वाले श्रद्धालुओं की थर्मल स्कैनिंग के साथ सैनिटाइजेशन भी किया जाएगा. मंदिर में आरती के दौरान किसी भी भक्त को प्रवेश नहीं दिया जाएगा. भक्त महादेव को पसंद बेलपत्र और फूल नहीं चढ़ा पाएंगे. वहीं प्रसाद में भी लड्डू की जगह चिक्की ही मिलेगा.

द्वारकाधीश मंदिर

द्वारिकाधीश मंदिर में भी आने वाले श्रद्धालुओं को मंदिर में सुबह 5 बजे के बाद ही प्रवेश दिया जाएगा. आरती में किसी भी को आने की इजाजत नहीं होगी. मंदिर में प्रवेश और निकास दोनों अलग-अलग दरवाजे से होगा. प्रवेश के वक्त भक्तों की थर्मल स्कैनिंग की जाएगी. हैंड सैनिटाइजर के साथ यहां मंदिर में प्रवेश के लिए श्रद्धालुओं को मास्क पहनना जरूरी रहेगा.

जम्मू-कश्मीर में बंद रहेंगे सभी धार्मिक स्थल

जम्मू-कश्मीर के लिए नई गाइडलाइन जारी की गई है. नई गाइडलाइन के अनुसार, राज्य में अभी धार्मिक स्थल बंद रहेंगे. हेयर सैलून/पार्लर की दुकानें नई SOP के साथ खुल सकेंगी.

जम्मू-कश्मीर में 8 जून से रेस्त्रां सिर्फ होम डिलीवरी के लिए खोले जाएंगे. होटलों को खोला जा सकता है, लेकिन 50 प्रतिशत को ही अनुमति दी जाएगी. दूसरा जो बड़ा फैसला है वो है मॉल खोलने का. अब राज्य में मॉल को खोलने की अनुमति दे दी गई है. ग्रीन और ओरेंज डिस्ट्रिक्ट में 67 प्रतिशत लोगों के ही यात्रा करने की अनुमति होगी. रेड जोन में सिर्फ SRTC बसों को चलने की इजाजत है.

कंटेनमेंट जोन्स में नहीं मिलेगी रियायत

जो इलाके कंटेनमेंट जोन्स में हैं, उन इलाकों में अभी किसी तरह की कोई रियायत नहीं दी जाएगी. यानी, इन इलाकों में न तो मंदिरों के कपाट खुलेंगे और ना ही होटल-रेस्टोरेंट या मॉल ही खोलने की इजाजत दी जाएगी.

इंटर-स्टेट और इंटर-प्रोविन्स मूवमेंट के लिए पास अनिवार्य होगा. जम्मू-कश्मीर में अभी स्कूल, कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे. प्रशासनिक ऑफिस खोले जा सकते हैं. सभी सिनेमा घर, क्लब, जिम भी बंद ही रहेंगे.

Tags
Back to top button