बिज़नेसराष्ट्रीय

अनलॉक के दौरान सब्जियों के दामों में बेतहाशा बढ़ोतरी, बिगड़ रहा घर का बजट

टमाटर 80 तो 400 रु/किलोग्राम बिक रही है ब्रोकली

नई दिल्ली: सब्जियों के दामों में बढ़ोत्तरी लोगों की रसोई का बोझ बढ़ गया है. सब्जी उत्पादक किसानों को बाढ़ के जलभराव से आवागमन की परेशानी हुई. कई स्थानों पर सब्जी के बगीचे जलभराव व तेज बारिश से खराब हो गए हैं.

COVID-19 का असर सबसे ज्यादा सब्ज़ियों की कीमतों पर ही पड़ता दिख रहा है. सब्जियों के बढ़ते दाम से घर का बजट बिगड़ गया है. दिल्ली-एनसीआर सहित देश के कई हिस्सों में जो सब्जियां 20 से 30 रुपये प्रति किलोग्राम बिकते थे, उन्हीं सब्जियों के दाम अब 100 रुपये के पार हो गए हैं.

ब्रोकली जैसी सब्जियां तो 400 रुपये प्रति किलोग्राम से ज्यादा दामों में बिक रही हैं. सब्जियों के बढ़ते दाम से सभी वर्गों के लोग परेशान हैं. दिल्ली की मंडियों में टमाटर 60 से 80 रुपये प्रति किलोग्राम तो आलू 40 रुपये प्रति किलोग्राम बिक रहे हैं.

गाजीपुर मंडी में धनिया 200 रुपये प्रति किलोग्राम और लहसुन 150 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच चुकी है. वहीं मिर्च 100 से 150 रुपये प्रति किलोग्राम बिक रही है. बैंगन, भिंडी और प्याज के दामों भी काफी बढ़ोत्तरी हुई है.

बता दें कि निम्न और मध्यमवर्गीय परिवार अपनी आमदनी के मुताबिक रसोई का बजट तय करते हैं. लॉकडाउन खुलने के बाद से ही सब्जियों के दामों में लगातार तेजी आ रही है. हर सप्ताह सब्जियों के दाम बढ़ते जा रहे हैं, जिससे लोगों के घर का बजट बिगड़ रहा है. मार्च से लेकर जुलाई के शुरुआत तक सब्जियों के दाम सामान्य थे, लेकिन जुलाई के दूसरे सप्ताह से सब्जियों के दामों में तेजी आनी शुरू हो गई है, जो अभी तक जारी है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button