यूपी: चित्रकूट जिला जेल में कैदियों के बीच खूनी संघर्ष, तीन कैदियों की मौत

जेल के अंदर फायरिंग से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया

चित्रकूट: उत्तर प्रदेश की चित्रकूट जिला जेल में अंशुल दीक्षित नाम के एक कैदी ने पश्चिम उत्तर प्रदेश के बदमाश मेराजुद्दीन और मुकीम काला को मौत के घाट उतार दिया। बाद में पुलिसिया कार्रवाई में अंशुल भी मार गिराया गया है। अंशुल दीक्षित पूर्वांचल का शार्प शूटर बताया जा रहा है।

जेल में बंद कुछ कैदियों के बीच हुई आपसी झड़प के दौरान एक बंदी ने दो कैदियों की गोली मारकर हत्या कर दी, बाद में जेल सुरक्षाकर्मियों ने उसे भी मार गिराया। जेलर त्रिपाठी ने बताया कि अभी फिलहाल जिले के वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल का निरीक्षण कर रहे हैं।

घटना की पूरी जानकारी बाद में दी जाएगी। एक सवाल के जवाब में जेल अधिकारी ने बताया कि बीच-बचाव करने गए एक सुरक्षाकर्मी का सर्विस रिवाल्वर छीनकर बंदी ने दो कैदियों पर गोली चलाई। मामले की जांच की जा रही है।

जेल के अंदर फायरिंग से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। सूत्रों के अनुसार मृतक बंदी कुछ दिनों पूर्व बाहरी जेल से यहां शिफ्ट हुआ था। डीआईजी जेल पीएन पांडेय ने भी बताया कि वर्चस्व की इस भिड़ंत में दोनों तरफ से कई राउंड फायरिंग भी हुई है।

मेराजुद्दीन को बाहुबली माफिया विधायक मुख्तार अंसारी का करीबी बताया जा रहा है। वहीं मुकीम पर हत्या, लूट, रंगदारी, अपहरण, फिरौती जैसे 35 से ज्यादा मुकदमे दर्ज थे। कभी चिनाई मिस्त्री रहे मुकीम की गिनती हार्डकोर क्रिमिनल के रूप में होती थी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button