यूपी में रखा किनारे, अब महाराष्ट्र में कांग्रेस का सिरदर्द बढ़ाएंगी एसपी-बीएसपी

मुंबई। यूपी में कांग्रेस को अपने गठबंधन से बाहर रखने वाले एसपी और बीएसपी अब महाराष्ट्र में भी उसके लिए सिरदर्द साबित हो सकते हैं। 48 सीटों वाले इस अहम राज्य में समाजवदी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने गठजोड़ किया है। इसके अलावा असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम और प्रकाश आंबेडकर की पार्टी वंचित बहुज अगाड़ी के बीच गठबंधन हुआ है। ये दोनों गठजोड़ सूबे में मुस्लिम वोटों का बंटवारा करा सकते हैं, जिससे कांग्रेस और एनसीपी के गठजोड़ को करारा झटका लग सकता है।

एसपी-बीएसपी ने महाराष्ट्र की सभी 48 सीटों पर लड़ने का फैसला लिया है और जल्दी ही दोनों के बीच सीटों के बंटवारे का भी ऐलान हो सकता है। कांग्रेस के मुस्लिम विधायकों को कहना है कि मुसलमान मतदाता रणनीतिक रूप से वोटिंग करेंगे, लेकिन तमाम राजनीतिक विश्लेषक मानते हैं कि यदि मुस्लिमों का एक तबका भी एसपी और एआईएमआईएम की ओर रुख करता है तो सीधे तौर पर बीजेपी-शिवसेना गठबंधन तो बढ़त मिलेगी।

महाराष्ट्र में समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अबू आसिम आजमी ने कहा, ‘बीजेपी और कांग्रेस एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। मैंने सेकुलर गठबंधन का हिस्सा बनने का प्रयास किया, लेकिन कांग्रेस ने दरवाजे बंद कर दिए। उसने समाजवादी पार्टी को एक भी सीट देने से इनकार कर दिया। अब लॉन्ग टर्म प्लान के तहत एसपी और बीएसपी ने एक साथ आकर लोकसभा और विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला लिया है।’

आमतौर पर ओवैसी और आजमी के समर्थक वे मुस्लिम हैं, जो कांग्रेस से नाराज रहते हैं। पिछले दिनों कांग्रेस के साथ गठजोड़ की कोशिश करने के बाद असफल रहे आजमी एक भी सीट मिलने से इनकार के चलते नाराज हैं।

Back to top button