बाहरी लड़के मरीज़ों को इंजेक्शन लगा रहे UP के सरकारी अस्पताल का हाल

उत्तर प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में किस तरह मरीजों की जान से खिलवाड़ किया जा रहा है, इसका सबूत लखीमपुर खीरी जिले से मिला है. यहां जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती मरीजों पर बाहरी अनाड़ी लड़के इंजेक्शन लगाना सीख रहे हैं.

हैरानी की बात है कि सरकारी अस्पताल में इस तरह मरीजों की जान को खतरे में डाला जा रहा है और लखीमपुर खीरी के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) को ही इसकी जानकारी नहीं है.

और तो और, इंजेक्शन लगाने वाला लड़का मरीज से ही पूछते देखा गया कि टेबल पर पड़े इंजेक्शनों में से कौन सा उसे लगाना है. इंजेक्शन लगाने वाले लड़के से जब उसकी पहचान पूछी गई तो उसने साफ कहा कि हम प्राइवेट हैं और यहां मरीजों पर इंजेक्शन लगाना सीख रहे हैं.

अस्पताल में भर्ती मरीजों का कहना है कि जो इंजेक्शन लगा रहा था, वो कह रहा था कि अभी वो सीख रहा है. इन मरीजों के मुताबिक ट्रेंड डॉक्टरों या नर्सों की जगह ऐसे लड़के इंजेक्शन लगा रहे हैं तो गलत हो रहा है लेकिन क्या करें, भरोसा करना पड़ता है.

सीएमओ ने आश्वासन दिया कि इस मामले में जांच कराई जाएगी और अगर कोई कर्मचारी या अधिकारी बाहरी लोगों से काम करवाने के लिए दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. सीएमओ ने ये भी कहा कि कई बच्चे अभी इंटर्नशिप के लिए अस्पताल में आए हैं. लेकिन वीडियो में दिख रहा लड़का कौन है, ये पता लगाया जाएगा कि वो कौन है और किसने उसे ऐसा करने की इजाजत दी.

Back to top button