यूपी सरकार ने लॉन्च की मुखबिर योजना, कन्या भ्रूण हत्या की जानकारी देने पर मिलेगा 2 लाख का इनाम

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को मुखबिर योजना लॉन्च कर दी। इस योजना के तहत बेटियों को जन्म लेने से रोकने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। योजना के तहत कन्या भ्रूण हत्या की जानकारी देने वाले को सरकार की ओर से 2 लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह काम जन सहयोग के बिना संभव नहीं है।

योजना के तहत उन अल्ट्रासाउंड सेंटरों और नर्सिंग होम की पहचान की जाएगी, जो गर्भवती महिलाओं का भ्रूण परीक्षण कर उन्हें जन्म लेने से पहले ही लड़कियों की हत्या के लिए उकसाते हैं। इन लोगों को पकड़ने के लिए मुखबिर के तौर पर एनजीओ की मदद ली जाएगी। एनजीओ की सूचना पर पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम बताए गए पते पर छापा मारेगी। इसके बाद संबंधित अल्ट्रासाउंड सेंटर और नर्सिंग होम के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

योजना के तहत अब प्रदेश भर के जिलों में 64 रेस्क्यू वैन चलेंगी, जो महिलाओं की मदद करेंगी।

‘ताकत बनेगा रेस्क्यू वैन का कॉल सेंटर’
रेस्क्यू हेल्पलाइन वैन से यूपी के सभी जिलों में पीड़ित महिलाओं को सातों दिन 24 घंटे मदद उपलब्ध कराई जाएगी। इस हेल्पलाइन सेवा को जीवीके ईएमआरई संचालित करेगा। इसका टोल फ्री नंबर 181 होगा। महिला रेस्क्यू हेल्पलाइन वैन का कॉल सेंटर आधी आबादी की ताकत बनेगा। इसके माध्यम से घरेलू हिंसा की शिकार महिलाएं मदद मांग सकेंगी। यूपी के सभी जिलों की महिलाओं को योजना का लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री ने महिला कल्याण मंत्री रीता जोशी और स्वाति सिंह की टीम को 100 दिनों में रेस्क्यू वैन यूपी के जिलों में पहुंचाने और महिला सशक्तिकरण का अभियान चलाने के लिए बधाई दी।

योगी ने कहा कि समाज में भेदभाव के बाद भी लड़कियां लड़कों से कम नहीं हैं। भेदभाव की शुरुआत हम अपने परिवार से करते हैं और सोचते हैं कि समाज में कोई भेदभाव नहीं हो। हमें परिवार में लड़कियों को बराबरी का दर्जा देना होगा।

Back to top button