Uncategorized

योगी के मंत्री की कुर्सी पर बैठकर इस युवक ने ले ली सेल्फी

यूपी में योगी सरकार आने से प्रदेश का सुधार हुआ है या नही अभी इस पर तो कुछ कहना जल्दबाजी होगा लेकिन बीजेपी के कार्यकर्ताओं में तो कतई सुधार नही हुआ है और ऐसा कहने के पीछे जो वजह है उसे जानकर आप भी हैरत में पड़ जायेंगे कि मर्यादा, सीमा और संस्कारों की बात करने वाली भाजपा में ऐसे-ऐसे कार्यकर्ता हैं जो अपने ही नेता के गुस्से का शिकार होते रहते हैं.

विधानसभा चुनाव से पहले डिंपल यादव का एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें सपा के कार्यकर्ता डिम्पल यादव के सामने ही बदतमीजी कर रहे थे और उस समय सोशल मीडिया से लेकर इलेक्ट्रोनिक मीडिया में इस बात की खूब चर्चा हुई थी कि समाजवादी पार्टी में कोई अनुशासन नही है, लेकिन आज हम आपको बीजेपी के एक कार्यकर्ता की ऐसी फोटो दिखाते हैं जो जिसके बाद आप खुद फैसला कीजियेगा कि क्या ये अनुशासन का सही उदाहरण है.

दरअसल योगी सरकार में बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री संदीप सिंह के कार्यालय की एक फोटो वायरल हो रही है जिसमें अजय तिवारी नाम का शख्स मंत्री महोदय की कुर्सी पर बैठकर फोटो खिंचवाकर सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया. जिसके बाद बवाल मच गया. मामला पुलिसिया कार्रवाई तक पहुंचा तो मंत्री जी की कुर्सी पर बैठे शख्स के नाम FIR भी हो गयी.

अगर पूरे मामले को समझे तो मामला यूं है कि 24 जून को ईद के मौके पर बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री संदीप सिंह के कार्यालय अजय तिवारी नामक शख्स पहुंचा था. कार्यालय में मंत्री जी थे नही तो उनकी अनुपस्थिति में उसे मंत्री जी की कुर्सी पर बैठकर फोटो खिंचवाने की सूझी. कैमरा अपने साथी को देकर खुद मंत्री की कुर्सी पर बैठकर अजय तिवारी ने फोटो खिंचवाई।

मामला यहीं नही ख़त्म होता, मंत्री की कुर्सी पर बैठकर खिंचवाई गयी इस फोटो को अजय ने अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट कर दिया, जिसके बाद शुरू हुआ असली विवाद. इस फोटो को फेसबुक पर अपलोड करते हुए अजय ने लिखा – ‘माननीय बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री संदीप सिंह जी की कुर्सी पर बैठने का आनंद.’ फोटो पोस्ट करते हुए अजय तिवारी को अंदाजा नहीं था कि उसको ये ‘आनंद’ कितना भारी पड़ जाएगा.

ये फोटो फेसबुक पर इतनी वायरल हुई कि मंत्री संदीप सिंह के पीए के पास भी पहुंच गई.

पीए ने इस फोटो पर अपनी नाराजगी जताते हुए लखनऊ के हुसैनगंज थाने में अजय तिवारी के नाम FIR दर्ज करवा दी. दर्ज हुई शिकायत पर पुलिस भी हरकत में आ गई और इस मामले की जांच करने के लिए साइबर सेल को सौंप दिया. नतीजा ये रहा कि साइबर सेल ने बड़ी फुर्ती के साथ कार्रवाई करते हुए आरोपी अजय तिवारी को गिरफ्तार कर लिया.

वैसे जिस तरीके से अजय ने अपनी प्रोफाइल से पोस्ट किया हुआ है उसे देखकर लगता है कि अजय तिवारी भाजपा का ही कार्यकर्ता है और इसके पहले भी उसने बीजेपी के कई नेताओं के साथ अपनी फोटो फेसबुक वाल पर अपलोड की थी.

अजय तिवारी जिसे पुलिस ने उसके ‘आनंद’ के लिए पकड़ा है उसने योगी के साथ खिंचवाई हुई एक फोटो सोशल मीडिया पर अपलोड की है, जिससे माना जा सकता है कि ये बीजेपी का सक्रिय कार्यकर्ता है.

Tags
Back to top button