राष्ट्रीय

यूपी: ट्रेन में बम की खबर से मचा हड़कंप, जवानों ने चलती ट्रेन से फेंका लावारिस सूटकेस

बलिया।

यूपी के बलिया में ट्रेन में बम की अफवाह के बाद यात्रियों में हड़कम्प मच गया। खबर पाकर पहुंचे रेल पुलिस के जवानों ने सूटकेश को चलती ट्रेन से बाहर फेंक दिया। गाड़ी के स्थानीय रेलवे स्टेशन पर पहुंचने के बाद सुरक्षा एजेंसियों ने तकरीबन एक घंटे तक रोककर छानबीन की। जांच के बाद ट्रेन को आगे के लिए रवाना किया गया।

जयनगर से चलकर नई दिल्ली को जाने वाली 12561 अप स्वतंत्रता सेनानी सुपर फास्ट एक्सप्रेस शुक्रवार की रात छपरा स्टेशन से बलिया के लिए चली थी। इसी बीच ट्रेन बलिया छपरा रेल खंड पर स्थित रेवती-सहतवार स्टेशनों के बीच से गुजर रही थी तभी गाड़ी के एस-2 कोच में सवार यात्रियों ने लावारिश सूटकेश होने की खबर सुरक्षाकर्मियों को दी। जानकारी होने के बाद ट्रेन की सुरक्षा में तैनात जीआरपी छपरा के जवान उक्त बोगी में पहुंच गये।

वह सूटकेश को खोलने का प्रयास कर रहे थे, तभी उसमें से बीप-बीप की आवाज आने लगी। इस आवाज को सुनकर यात्री व पुलिसकर्मी दोनों सहम गये। बताया जाता है कि जवानों ने सूटकेश को चलती गाड़ी से बांसडीहरोड-बलिया के बीच बाहर फेंक दिया, उन्होंने इससे अधिकारियों को अवगत कराया। ट्रेन रात करीब 11:22 बजे स्थानीय रेलवे स्टेशन पर पहुंची तो उसे जांच के लिए रोक दिया गया।

मौके पर पहुंचे आरपीएफ इंस्पेक्टर अमित कुमार राय, जीआरपी इंस्पेक्टर आरके मिश्र के साथ ही कोतवाली पुलिस व डॉग स्कवायड की टीम पहुंच चुकी थी। ट्रेन के सभी डिब्बों तथा उसमें सवार यात्रियों के सामानों की सघन तलाशी ली गयी। सुरक्षाकर्मियों ने पूरी संतुष्टि के बाद गाड़ी को आगे रवाना कराया।

ट्रेन में सवार यात्री का ही था सूटकेश

स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस में सुरक्षाकर्मियों व यात्रियों की नींद उड़ाने वाला अप सेनानी एक्सप्रेस में मिला लावारिश सूटकेश उसी में सवार एक यात्री का था। हालांकि इसकी जानकारी घंटों बाद हो सकी। बताया जाता है कि सूटकेश मिलने, उसे फेंके जाने तथा एक घंटे तक चले चेकिंग के बाद सुरक्षाकर्मियों ने राहत की सांस ली।

हालांकि रेल महकमा मामले पर एलर्ट था तथा गाड़ी को जगह-जगह चेक करने के निर्देश भी जारी कर दिये गये थे। सेनानी एक्सप्रेस में सुरक्षा के लिए बड़ी संख्या में आरपीएफ व जीआरपी को भी तैनात कर भेजा गया था।

सूत्रों की मानें तो ट्रेन के आगे बढ़ने पर जांच कर रहे जवानों को दूसरे कोच में सो रहे सीतामढ़ी बिहार के पुपरी थाना क्षेत्र के जोगियां गांव निवासी मोहम्मद पुत्र सफीर उलहद ने बताया कि वह सूटकेश मेरा था।

पूछताछ में बताया कि वह पहले एस-2 कोच में बैठा था और सूटकेश वहीं छूट गया, बाद में मैं एस 3 में चला गया और वहीं सो गया। रात में नमाज पढ़ने के लिए मोबाइल में एलार्म लगाकर मैंने भूल से सूटकेश में बंद कर दिया था। सूटकेश की याद आने के बाद मैं उसे ढूंढ़ने लगा तो जानकारी मिली। एक यात्री की छोटू सी भूल के चलते ट्रेन सवार मुसाफिरों की जान पर बन आयी थी।

सूटकेश फेंकने के बाद तलाशने में जुटी आरपीएफ

अप स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एक्सप्रेस में जिस सूटकेश को रेल पुलिस के जवानों ने एहतियातन फेंक दिया था उसे बाद में खोजा जाने लगा। बताया जाता है कि जिसका सूटकेश था, इसकी जानकारी होने के बाद रात में ही आरपीएफ के जवान बलिया व बांसडीह के बीच सूटकेश के खोजबीन में जुट गये। हालांकि अंधेरा होने के चलते उन्हें सफलता नहीं मिल सकी।

शनिवार की सुबह तकड़के सूटकेश की तलाश शुरू हुई, लेकिन कामयाबी नहीं मिल सकी। अंदाजा लगाया जा रहा है कि पटरी के किनारे पड़े उक्त सूटकेश को उठाकर कोई ले जा चुका है। हालांकि रेलवे सुरक्षा बल के जवान पूरे दिन रेलवे लाइन के किनारे स्थित गांवों में सूटकेश का सुराग लगाने का प्रयास कर रहे थे। सुरक्षा बल आरपीएफ के दर्जनों जवान रेल पटरी के दोनों तरफ लगी झाड़ियों, खेतों में भी सूटकेश की खोजबीन में जुटे हुए हैं।

कई ट्रेनों की भी हुई जांच

अप सेनानी एक्सप्रेस में लावारिश सूटकेश मिलने की घटना के बाद कई ट्रेनों की जांच की गयी। रेल सूत्रों की मानें तो सेनानी के बाद पहुंची राजधानी व कई अन्य रेलगाड़ियों की सघन तलाशी ली।

Summary
Review Date
Reviewed Item
यूपी: ट्रेन में बम की खबर से मचा हड़कंप, जवानों ने चलती ट्रेन से फेंका लावारिस सूटकेस
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags