गोमती नदी के सफाई अभियान में शामिल हुए यूपी के CM योगी आदित्यनाथ

लखनऊ।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ स्वच्छ भारत अभियान को बढ़ावा देने के लिए रविवार सुबह गोमती नदी सफाई के अभियान में शामिल हुए। सीएम ने खुद घाटों पर पहुंचकर सफाई अभियान में हिस्सा लिया। यह अभियान जलकुंभी हटाने और उसकी सफाई करने के लिए चलाया गया है। इस अभियान में मुख्यमंत्री के साथ कई मंत्री भी शामिल हुए।

गोमती नदी की सफाई नगर निगम की मदद से की जाएगी। इसके लिए 4 जोन बनाए गए हैं, जिसमें 8 जोनल अधिकारी तैनात हैं। गोमती नदी की सफाई के बाद जो कूड़ा निकलेगा, उसे उसी दिन उठवाने की व्यवस्था तय की जाएगी। गऊ घाट से 1090 तक गोमती नदी के दोनों किनारों की सफाई की जाएगी। गोमती नदी की सफाई में व्यापारियों ने भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया।

शनिवार को कानून मंत्री बृजेस पाठक के आवास पर लखनऊ व्यापार मंडल और अमीनाबाद संघर्ष समिति के सदस्यों ने बैठक की, जिसमें झूलेलाल पार्क के पास गोमती नदी अभियान शुरू किए जाने की बात हुई। साथ ही इस बैठक में इस बात के निर्देश भी दिए गए कि किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। घाट पर जलकुम्भी या किसी भी स्थिति में हर तरह के खतरे से निपटने के लिए एंबुलेंस की व्यवस्था विशेष रूप से की जाएगी।

Back to top button