अंतर्राष्ट्रीय

US में किम का खौफ, एक झटके में 90% अमेरिकी होंगे निशाने पर

उत्तर कोरिया की लगातार बढ़ती मिसाइल और परमाणु क्षमता ने अमेरिका समेत दुनियाभर को हिलाकर रख दिया है. वह तमाम कोशिशों के बावजूद अपने परमाणु और मिसाइल परीक्षण को रोकने का नाम नहीं ले रहा है. अब अमेरिकी संसद ने उत्तर कोरिया को लेकर गंभीर चिंता जताई है.

अमेरिकी कांग्रेस ने चेताया कि उत्तर कोरिया मिसाइल या सैटेलाइट के जरिए न्यूक्लियर EMP बम से हमला करके एक झटके में एक साल के अंदर ही 90 फीसदी अमेरिकियों को मौत के घाट उतार सकता है. अमेरिकी विशेषज्ञों का कहना है कि उत्तर कोरिया इलेक्ट्रॉनिक पावर ग्रिड को तबाह कर सकता है. इससे अमेरिका अंधेरे में डूब जाएगा.

हाल ही में जिस तरह की तीखी बयानबाजी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के बीच देखने को मिली है, उसके मद्देनजर अमेरिकी कांग्रेस की चिंता लाजमी है. उत्तर कोरिया को परमाणु और मिसाइल परीक्षण करने की सारी कोशिशें करके अमेरिका हार चुका है.

कांग्रेस में सुनवाई के दौरान विशेषज्ञों ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पेंटागन से देश के इलेक्ट्रॉनिक पावर ग्रिड की सुरक्षा के लिए जल्द कदम उठाने को कहा है. इनका कहना है कि उत्तर कोरिया अमेरिका के लिए लगातार खतरा बनता जा रहा है. अगर जल्द ही उत्तर कोरिया को रोका नहीं गया, तो भीषण तबाही मचा सकता है.

अमेरिका को दे चुका है धमकी
उत्तर कोरिया कई दफा सार्वजनिक तौर पर अमेरिका को तबाह करने की धमकी दे चुका है. वह साफ लहजे में चेता चुका है कि अगर अमेरिका ने उसे उकसाने की कोशिश की, तो वह उस पर परमाणु हमला कर सकता है. यह भी आशंका जताई जा रही है कि उत्तर कोरिया की ओर से हाल ही में किए गए मिसाइल परीक्षण EMP स्ट्राइक क्षमता बढ़ाने के लिए किए गए हैं. विशेषज्ञों का कहना है कि उत्तर कोरिया के पास अमेरिका तक हमला करने वाली मिसाइले हैं. वह खुले तौर पर इसका ऐलान भी कर चुका है.

क्या है EMP हमला
EMP स्ट्राइक यानी इलेक्ट्रोमैगनेटिक पल्स वैपन हमला दुश्मन के संचार उपकरणों को तबाह करने के लिए किया जाता है. अगर उत्तर कोरिया ने अमेरिका पर मिसाइल या सैटेलाइट के जरिए EMP हमला कर दिया, तो अमेरिका का इलेक्ट्रॉनिक ग्रिड तबाह हो जाएगा. आज अमेरिका पूरी तरह से साइबर तकनीकी पर निर्भर है. उत्तर कोरिया के इस कदम ने अमेरिका की चिंता बढ़ा दी है.

साइबर हमले से तबाह हो जाएगा अमेरिका
अमेरिका पूरी तरह से साइबर पर टिका हुआ है. हाल ही में अमेरिका की होमलैंड सिक्युरिटी और नेशनल EMP टास्क फोर्स के कार्यकारी निदेशक डॉक्टर पीटर विनसेंट प्राई ने चेताया था कि उत्तर कोरिया अपने सैटेलाइट को न्यूक्लियर मिसाइल में तब्दील करने की कोशिश में है. खास बात यह है कि उत्तर कोरिया के सैटेलाइट अमेरिका के आसमान में घूम रहे हैं.

कांग्रेसनल EMP कमीशन के प्रमुख प्राई ने कहा था कि अगर अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर हमला करने की कोशिश की, तो किम जोंग उन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए मुश्किल पैदा कर सकता है. उत्तर कोरियाई तानाशाह अमेरिकी संचार उपकरणों को खत्म कर सकता है. वह अमेरिका को उत्तर कोरिया पर हमला करने से पीछे हटने को भी मजबूर कर सकते हैं.

मंडरा रहा युद्ध का खतरा
उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच युद्ध का खतरा मंडरा रहा है. कुछ दिन पहले तो उत्तर कोरिया ने यहां तक कह दिया था कि अमेरिका ने उसके खिलाफ जंग का ऐलान कर दिया है. हालांकि बाद में अमेरिका ने इसको खारिज कर दिया था. उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री ने खुलेआम कहा था कि अमेरिका अगर उत्तर कोरिया पर सैन्य कार्रवाई करता है, तो वो जवाबी कार्रवाई के लिए तैयार हैं.

उन्होंने कहा था कि पूरी दुनिया को यह याद रखना चाहिए कि पहले अमेरिका ने हमारे देश के खिलाफ युद्ध का ऐलान किया है. ऐसे में हमारे पास इसका पूरा अधिकार होगा कि हम अमेरिकी बमवर्षक विमानों को मार गिराने सहित हर प्रतिरोधी कदम उठाए.

Summary
Review Date
Reviewed Item
परमाणु क्षमता
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *